बेसहारा बुजुर्ग को वृद्धाश्रम ने दिया सहारा

कौशाम्बी।  कप कपाती ठंड में बीते कई दिनो से समदा चौराहे के पास खुले आसमान के नीचे एक वृद्ध महिला अपने मुसीबत के दिन गुजार रही थी। खुले आसमान के नीचे जीवन यापन कर रही इस महिला के मदद को जिम्मेदारो ने हॉथ नही बढाये किसी तरह से यह मामला वृद्धा आश्रम के संचालक आलोक राय तक पहुच गया जिस पर समदा चौराहा आलोक राय पहुचे और वृद्ध से खुले आसमान के नीचे रहने का कारण पूछा जिस पर वृद्ध ने बताया कि वह बसोहरा गांव के रहने वाले जवाहर की पत्नी जग्गी है महिला की उम्र लगभग 77 वर्ष है। उनके पति और बेटे की भी मौत हो चुकी है वृद्ध महिला का कहना है कि उसकी पुत्रवधु उसे आये दिन मारपीट कर प्रताडित करती है बहु की प्रताडना से त्रस्त होकर उसने घर छोड दिया है। जिस पर वृद्धा आश्रम में असहाय महिला को रहने और भोजन की व्यवस्था दी गयी है।