घर में घुस कर मॉ बेटी पर दबंगो ने किया हमला

कोखराज थाना क्षेत्र के शहजादपुर गांव में दिनदहाड़े दबंगो ने दिया घटना को अंजाम, हमलावरो के बचाव में उतरे टेढीमोड पुलिस चौकी इंचार्ज


कौशाम्बी। कोखराज थाना क्षेत्र के शहजादपुर गांव में घर में रह रही मॉ बेटी पर नाली के पानी के विवाद को लेकर दबंगो ने प्राणघातक हमला कर दिया है। 


मामले की तहरीर लेकर टेढीमोड पुलिस चौकी जब पीडित पक्ष पहुचा तो टेढीमोड चौकी इंचार्ज न्याय देने के बजाय अपराधियो की तरफदारी कर पार्टी बन्दी करने लगें। मॉ बेटी के हमलावर चौकी इंचार्ज के दलाल मित्र बताये जाते है और मॉ बेटी पर हमला करने वाले आरोपियो ने पुलिस चौकी टेढी मोड को अपना ठिकाना बना रखा है। पीडित मॉ बेटी पुलिस कप्तान से मिलने मुख्यालय आयी थी 


मामले की सूचना कोखराज थाना पुलिस को भी पीडित पक्ष ने दिया है लेकिन समाचार लिखे जाने तक मामले मे मुकदमा दर्ज कर आरोपियो की गिरफ्तारी पुलिस ने नही की है वही टेढी मोड पुलिस चौकी इंचार्ज की भूमिका पर भी सवालिया निशान लग रहे है पूरे प्रकरण पर चौकी इंचार्ज से बात करने का प्रयास किया गया लेकिन चौकी इंचार्ज का मोबाइल सेवा में नही है। कहकर कट जाता है जिससे बात नही हो सकी है। 


 घटनाक्रम के मुताबिक कोखराज थाना क्षेत्र के शहजादपुर गांव निवासी शिवानी तिवारी अपनी मॉ के साथ गांव के घर में रहती है 26 दिसम्बर को घर में लगे नल मे लकडी ठूसकर विपक्षी सत्यम रानु आदि ने पीडित पक्ष का पानी बन्द कर दिया इतना ही नही पीडित पक्ष के घर से निकलने वाले पानी को दबंगो ने रोक दिया। प्रार्थीनी की जमीन पर कूडा कचरा फेककर उसे गंदा करते है


 इसी बात को लेकर जब पीडित पक्ष ने दबंगो से बात करनी चाही तो वह दबंगई पर उतर आये और घर में मॉ बेटी को अकेला देखकर कई लोग अन्दर घुस गये और दोनो को घसीट-घसीट कर मारने पीटने लगे आरोप है कि दबंगो ने सोने की चैन व कान की रिंग छीन लिया है। दबंग इसके पहले भी कई लोगो के साथ मारपीट कर चुके है उनका सामाजिक स्तर ठीक नही है।


 अब इन दबंगो के बचाव में चौकी इंचार्ज उतर आये है और रात में महिलाओ के घर जाकर तहरीर वापस लेने का दबाव बना रहे थे अपराधियो को संरक्षण देने वाले टेढीमोड पुलिस चौकी इंचार्ज के उपनिरीक्षक के कारनामो की यदि आलाधिकारियो ने जॉच करायी तो इन्हे दंड मिलना तय है। 


 टेढीमोड पुलिस चौकी मालामाल है और इस चौकी क्षेत्र में कई लाख रूपया महीना जुए की फडो से आ रहा है। गांजा, शराब, पशु तस्करी,लकडी माफियाओ से भी लाखो रूपया महीने की कमायी के लिए इस चौकी को जाना जाता है। इतना ही नही इलाके के ढाबो में अफीम की बिक्री सहित कई अन्य जरायम के धन्धे इस क्षेत्र की पहचान है।