जिनका नही है जनता से रिश्ता ठोक रहे है अध्यक्ष की दावेदारी

12 वर्षो के इंतजार के बाद मंझनपुर बनी नगर पालिका


पूर्व चेयरमैन नरेश चन्द्र केसरवानी ने नगर पालिका बनाये जाने की पहल की थी शुरू


कौशाम्बी। लम्बे इंतजार के बाद मंझनपुर नगर पंचायत को भाजपा सरकार ने नगर पालिका घोषित कर दिया है अब जनपद मुख्यालय नगर पालिका क्षेत्र जाना जायेगा।


 नगर पालिका बनाये जाने की कवायद 12 वर्षो पूर्व तत्कालीन नगर पंचायत अध्यक्ष नरेश चन्द्र केसरवानी ने शुरू की थी लेकिन प्रदेश की सपा सरकार ने मंझनपुर को नगर पालिका घोषित करने पर अवरोध डाल दिया था जिससे मंझनपुर नगर पंचायत को नगर पालिका का दर्जा नही मिल सका था। 


दो वर्षो पूर्व मंझनपुर को नगर पालिका बनाये जाने का प्रयास मंझनपुर कस्बे के पूर्व चेयरमैन प्रतिनिधि शबीह हैदर उर्फ मीनू ने शुरू किया था लेकिन सूबे में भाजपा की सरकार होने से उन्हे दर दर पर कठिनाईयो का सामना करना पडा। मंझनपुर कस्बे की जनता नगर पालिका बनने की बाट जोह रही थी और अन्ततः मंझनपुर को सरकार ने नगर पालिका घोषित कर दिया है। पालिका घोषित होते ही तमाम नये नये चेहरे चुनाव लडने की लाइन में लगने लगे है। 


 नगर पालिका घोषित होते ही अध्यक्ष पद के दावेदारो की एक लम्बी लिस्ट लोगो की जुबान पर फिसलने लगी है जिनका आम जनता से कोई लेना देना नही है वह भी नगर पालिका के अध्यक्ष की कुर्सी हथियाने की गुणा गणित करने लगे है। तमाम एैसे छुटभैया नेता भी अध्यक्ष की दावेदारी ठोक रहे है जिनका रिश्ता जनता के बीच हमेशा जन विरोधी था।