कोखराज  पुलिस का लूटेरों से रिस्ता क्या

कौशाम्बी।  अपराधों  के खुलासे में फिसडडी साबित होने वाली कोखराज पुलिस के क्षेत्र में लूट की घटना के बाद कोखराज पुलिस नें दो घंटे के अन्दर लूट की घटना की जांच विवेचना तफशीस के साथ साथ घटना के बाबत अपना जजमेनट भी सुना दिया।


कोखराज पुलिस के इस तेजी पर लोगों ने सवाल उठाना शुरु कर दिया है कि आखिर लुटेरों से कोखराज पुलिस का क्या रिस्ता है जो सोने चांदी के ब्यापारी के साथ लूट के बाद वह लुटेरों की भाषा बोलने लगी हैं।यह जॉंच का  विषय है।और जॉच हुयी तो कोखराज पुलिस के कारनामें महकमें को बदनाम करने वाले उजागर होगे।
जानकारी के मुताबिक कोखराज थाना क्षेत्र के चमनधा निवासी राजेश वर्मा को बाइकर्स गैग ने लूट लिया घटना रविवार शाम की है।
राजेश के मुताबिक उनके पास डेढ़ सौ ग्राम सोना तीन किलो चांदी लगभग 8 हजार नगद था ।पीडित से तहरीर लेने के फ़ले ही आठ लाख की इस लूट पर कोखराज पुलिस पर बयानबाजी शुरु कर दिया और यह कह कर झूठा करार दिया कि  राजेश वर्मा शस्त्र लाईसेंस चाहते है इसलिए वह लूट की कहानी रच रहे है जबकि राजेश वर्मा लूट की बात को बार बार दोहरा रहें है।
कोखराज थाना क्षेत्र के बालकमऊ मे दो वर्ष पूर्व चिकित्सक की हत्या समेत कई हत्या लूट अन्य वारदातों का खुलासा करने मे पुलिस फिसड़डी साबित हुयी हैं फिर आखिर राजेश वर्मा के लूट को दर्ज कर उसकी तफशीस विवेचना करने के बाद दो घंटे के भीतर लूट की घटना का जजमेनट सुना दिया यह बड़ा सवाल है।यदि कोखराज पुलिस के इस मामलें में जॉच हुयी  तो  पुलिस का गन्दा चेहरा बेनकाब होगा  ?