रायबरेली में दिवंगत नेता के परिजनों से मिलीं प्रियंका गांधी, पुलिस की कांग्रेसियों से हुई नोकझोंक



कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा रविवार को रायबरेली पहुंचीं और दिवंगत कांग्रेसी नेता सुनील श्रीवास्तव के परिजनों से मुलाकात की। प्रियंका पत्रकारपुरम् स्थित कांग्रेस नेता के घर पहुंची और उनके परिजनों को सांत्वना दी।

प्रियंका के रायबरेली आने की खबर सुनकर कांग्रेस के युवा पदाधिकारी भी वहां पहुंचे। इस दौरान उनकी पुलिस कर्मियों से नोकझोंक भी हुई। जिस पर पुलिस ने कार्यकर्ताओं को धक्का देकर बाहर कर दिया।




02:35 PM, 29-DEC-2019




कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लखनऊ के पार्टी मुख्यालय में सहयोगियों के साथ बैठक के बाद रायबरेली रवाना हो गईं। जहां वह रायबरेली के कांग्रेस उपाध्यक्ष सुनील श्रीवास्तव के परिजनों से मुलाकात करेंगी। बता दें कि सुनील श्रीवास्तव का 27 दिसंबर को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया था। रायबरेली से वह लखनऊ वापस लौटेंगी और रात्रि निवास लखनऊ में ही करेंगी।

प्रियंका गांधी आज एक्ट्रेस सदफ जफर से भी मुलाकात कर सकती हैं। 19 दिसंबर को लखनऊ में हुई हिंसा के बाद उन्हें हिरासत में लिया गया था। उन पर नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हिंसा भड़काने के आरोप हैं। लोवर कोर्ट ने उनकी जमानत की अर्जी खारिज कर दी थी। प्रियंका गांधी ने मामले को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा था और जमानत देने की मांग की थी।



12:20 PM, 29-DEC-2019

प्रियंका ने सीआरपीएफ को लिखा शिकायती पत्र


कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के लखनऊ दौरे को लेकर उनके कार्यालय ने सीआरपीएफ वीआईपी सुरक्षा प्रभारी को पत्र लिखा है। सूत्रों के मुताबिक पत्र में शिकायत की गई है कि लखनऊ के सर्किल अधिकारी (सीओ) ने प्रियंका की सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मियों को धमकाते हुए चेतावनी दी कि वे प्रियंका की आवाजाही को प्रतिबंधित रखे।

सूत्रों के मुताबिक उन्होंने संबंधित अधिकारी के खिलाफ जरूरी कार्रवाई करने की मांग की है। सीआरपीएफ महानिदेशालय के आईजी प्रदीप कुमार सिंह को लिखे पत्र में प्रियंका गांधी के कार्यालय ने बताया कि हजरतगंज के सर्किल ऑफिसर अभय मिश्रा ने प्रोटोकॉल को तोड़ा है। 



11:55 AM, 29-DEC-2019

पति रॉबर्ट वाड्रा बोले- प्रियंका पर गर्व है


वहीं रविवार को पति रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश की महिला पुलिसकर्मियों द्वारा प्रियंका के साथ जिस तरह की हरकत की गई, उसे देखकर मैं बेहद परेशान हूं। एक पुलिसकर्मी ने प्रियंका का गला दबा दिया था, जबकि एक अन्य ने उन्हें ऐसा धक्का दिया कि वो गिर गईं। 

रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि, इसके बाद भी प्रियंका का हौसला नहीं टूटा। वो दोपहिया वाहन पर सवार होकर पूर्व आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी के परिजनों से मुलाकात करने पहुंचीं। इसके साथ ही वाड्रा ने यह भी कहा कि प्रियंका मुझे गर्व है कि आप पूरी निष्ठा से उन लोगों तक पहुंचती हैं, जिन्हें आपकी जरूरत होती है। आपने जो किया वो बिल्कुल सही था। जरूरतमंदों के साथ खड़े रहना और उनसे मिलना कोई गुनाह नहीं है। 



रायबरेली में दिवंगत नेता के परिजनों से मिलीं प्रियंका गांधी, पुलिस की कांग्रेसियों से नोकझोंक


उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा शनिवार को प्रियंका गांधी के साथ किए गए कथित दुर्व्यवहार के बाद रविवार सुबह वो लखनऊ स्थित पार्टी कार्यालय पहुंचीं और कांग्रेस नेताओं संग बैठक की। इससे पहले शनिवार को पूर्व आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी के परिजनों से मुलाकात के लिए जाते वक्त पुलिस के साथ प्रियंका की झड़प हो गई थी। पुलिस ने प्रियंका की गाड़ी को जबरन लोहिया पार्क के सामने रोक लिया था।

पुलिस ने कहा कि बिना पूर्वसूचना के सुरक्षा कारणों से उन्हें ऐसा करना पड़ रहा है। इसपर प्रियंका ने आपत्ति जताई और कहा कि जिस तरह से पुलिस ने उन्हें रोका उससे हादसा भी हो सकता था। उन्होंने पुलिस पर यह भी आरोप लगाया कि पुलिस ने उनका गला दबाकर रोका। उन्होंने कहा कि पुलिस ने मुझे धक्का दिया, जिसके कारण मैं गिर गई।