समाज वादी पार्टी के कार्यकर्ताओं के द्वारा सीतापुर में दिया गया धरना

सीतापुर। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न वर्ग की समस्याओं के प्रति संवेदनहीनता के कारण समाजवादी पार्टी उनको न्याय दिलाने और उनकी समस्याओं के समाधान हेतु जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष हजारों लोग निम्न मांगों को लेकर धरना पर बैठे ।



उनकी मांगे कुछ इस प्रकार से है। जैसे समाज को धर्म , जाति के आधार पर बांटने वाले नागरिक संशोधन बिल को निरस्त कराया जाए।और  दुष्कर्म व हत्या के दोषियों को घटना के 30 दिन के अंदर दंड देने का कार्य किया जाए। भारी ओलावृष्टि से किसानों को क्षतिपूर्ति का प्रबंध किया जाए । और  बड़ी संख्या में गन्ना किसानों को पर्ची नहीं दी जा रही है । जिसके कारण गन्ना माफिया उन किसानों के गन्ना का  225 से ₹250 प्रति कुंतल देने पर बेचने के लिए मजबूर करते है।


 

जिजसे माफियाओं पर रोक लगाई जाए। और  सीधे किसानों को गन्ना पर्ची दी जाए। प्रशासन की मिलीभगत से गन्ना माफिया गन्ना केंद्रों पर गन्ना उतराई शुल्क जबरन वसूल कर रहे हैं । जिस पर रोक लगाई जाए ।  गन्ना किसान के गन्ने का मूल्य ₹325 प्रति कुंटल से बढ़ाकर ₹450 प्रति कुंतल कर दिया जाए । किसानों का पिछले वर्षों का लगभग 5000 करोड़ रुपया गन्ना मूल्य अभी तक गन्ना मिल मालिकों द्वारा भुगतान नहीं किया गया है। जो कि गन्ना का मूल्य ब्याज सहित 31 दिसंबर 2019 तक भुगतान कराया जाए। वर्तमान गन्ना सत्र का भुगतान मील मालिकों द्वारा नहीं किया जा रहा है। जिसको 15 दिन के अंदर अवश्य भुगतान कराने की व्यवस्था की जाए ।


बंद चीनी मिलो को मुख्य रूप से पूर्वांचल के जनपदों को तत्काल चालू कराने की व्यवस्था की जाए। धान क्रय केंद्रों पर किसानों से धान व खरीदना  करके बिचौलियों के माध्यम से खरीदा जा रहा है। किसान धान और पौने दाम पर बेचने को मजबूर है। इस प्रथा पर अंकुश लगाया जाए। धान केंद्रों पर बोरे तक उपलब्ध नहीं है। तत्काल इसका प्रबंध किया जाए। पुवाल  व पराली जलाने के नाम पर बहुत से किसानों पर फर्जी मुकदमा दर्ज किए गए हैं उनका उत्पीड़न किया जाए। और ऐसे मुकदमो को वापस लिया जाय।और उन पर लगाए गए आर्थिक जुर्माना को समाप्त किया जाय। आलू उत्पादकों को आलू की लागत के अनुसार समर्थन मूल्य तत्काल घोषित किया जाए।


आलू  किसानों के आलू उपज सरकारी खरीद हेतु आलू क्रय केंद्र शीघ्र तय करके सूची अभी प्रकाशित कर दी जाए। बिजली की दरों में बेतहाशा की गई वृद्वि को वापस लिया जाय ।पुलिस की दोष पूर्ण  गतिविधियों पर नियंत्रण किया।व फर्जी एनकाउंटर बन्द किये जाय। और छात्रों की बढ़ी हुई फीस वापस ली जाए। अनेक समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए सभी मांगो को उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार प्रणाली पर नियंत्रण करने समस्याओं के समाधान हेतु कार्यवाही करें। आदि सभी समस्याओं को लेकर समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने मिलकर सीतापुर में धरना प्रदर्शन किया । जिसमे जिलाध्यक्ष सीतापुर छत्रपाल यादव  , विधायक नरेंद्र सिंह वर्मा , पूर्व विधायक महेंद्र सिंह उर्फ झीन बाबू , महेंद्र सिंह वर्मा  पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष , अफलज कौसर पूर्व प्रत्याशी , निर्मल वर्मा पूर्व विधायक , मनीष रावत पूर्व विधायक ,


अनूप गुप्ता पूर्व विधायक ,राधेश्याम जायसवाल पूर्व विधायक , दिग्विजय सिंह देव प्रदेश अध्यक्ष छात्र सभा , रिजवान भाई जिला अध्यक्ष लोहिया ,मेराज अहमद युवा नेता , एम डी राजा , नूर भाई युवा नेता , सरताज , मो सब्बीर खान ,अंकित त्रिवेदी , देव नाथ सिंह यादव , सुहेल अहमद , बदलू राम निसाद , श्री पाल यादव , रूही कमाल , शेखर यादव , इकबाल , बिद्या सागर यादव , प्रवीण सैनी , अकबाल हुसेन हासमी , अरसद खा , प्रदीप सिंह , जय सिंह यादव , राम प्रकाश यादव , नूर अहमद आदि समाज वादी पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ताओ ने सीतापुर धरना प्रदर्शन में शामिल रहे।