उत्तर भारत में आज और कल कड़ाके की ठंड, U.P में 1 ही दिन में 28 की मौत

'चिल्ला कलां' से पूरे उत्तर भारत में बढ़ी ठिठुरन 
दो दिन और लुढ़केगा पारा, छाया रहेगा घना कोहरा 
1.7 डिग्री सेल्सियस के साथ नारनौल मैदानों में सबसे ठंडा
7.2 डिग्री सेल्सियस रहा दिल्ली का न्यूनतम तापमान 



पहाड़ों पर बर्फ और 40 दिन के 'चिल्ला कलां' ने पूरे उत्तर भारत में सर्दी का सितम बढ़ा दिया है। अगले दो दिन यानी 26 दिसंबर तक कम नहीं होगी और दिल्ली, हरियाणा, यूपी समेत पूरे उत्तर भारत में लोगों को कड़कड़ाती ठंड झेलनी पड़ेगी। मौसम विभाग के अनुसार एक-दो दिन घना कोहरा रहेगा। मंगलवार सुबह भी राजधानी दिल्ली में घना कोहरा छाया रहा।


तापमान की बात करें तो मैदानों में हरियाणा का नारनौल 1.7 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान के साथ सबसे सर्द रहा। वहीं, पहाड़ों पर लद्दाख के द्रास में पारा -26.7 फीसदी रहा। दिल्ली के पालम में न्यूनतम तापमान 7.2 और अधिकतम 13 डिग्री दर्ज किया गया। सफदरजंग में न्यूनतम तापमान 8.3 और अधिकतम तापमान 14.3 डिग्री दर्ज किया गया। न्यूनतम व अधिकतम तापमान में अंतर बढ़ने से ठंड भी बढ़ रही है।


यूपी में ठंड और कोहरे का कहर


गलन भरी ठंड और कोहरे के कहर से उत्तर प्रदेश में मंगलवार को 28 लोगों की मौत हो गई। वहीं प्रदेश में बहराइच 4 डिग्री के साथ सबसे ठंडा रहा। कई शहरों में न्यूनतम पारा सामान्य से 2 से 7 डिग्री सेल्सियस तक कम दर्ज किया गया। सुबह-रात को घने कोहरे से दृश्यता 200 मीटर और उससे भी कम के आसपास दर्ज की गई। मौसम विभाग ने कई और दिनों तक यह स्थिति जारी रहने का अनुमान जताया है।


 बुंदेलखंड और मध्य यूपी में ठंड से 17 लोगों की मौत हो गई। अकेले कानपुर शहर में दस, जबकि फतेहपुर, औरैया और कानपुर देहात में दो-दो लोगों की मौत हुई। बांदा में ठंड से एक वृद्धा ने दम तोड़ दिया। बुंदेलखंड में न्यूनतम तापमान ने तीन डिग्री का गोता लगाया। जालौन में कोहरे और रेल ट्रैक के दोहरीकरण के काम के चलते झांसी-लखनऊ इंटरसिटी एक्सप्रेस 25 दिसंबर से 28 दिसंबर तक निरस्त कर दी गई।


प्रतापगढ़ में ठंड से एक युवक की मौत हो गई। वहीं, लालगंज में हाईवे पर दो ट्रक आमनेे-सामने टकरा गए, जिसमें चालक की मौत हो गई, जबकि दूसरा चालक व खलासी गंभीर रूप से घायल हो गए। प्रयागराज के फूलपुर में ठंड से एक वृद्धा व फसल की रखवाली कर रहे दो किसानों की सांसें थम गईं। 


प्रयागराज में मंगलवार को सीजन का सबसे ठंडा दिन रहा। बीते 24 घंटों में अधिकतम पारा करीब आठ डिग्री गोता लगाकर 13.7 डिग्री पर ठहर गया। न्यूनतम पारा मामूली बढ़त के साथ 9.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दिन में बूंदाबांदी के बाद शाम को करीब आधे घंटे बौछारें पड़ीं।


 वहीं, रामपुर के शाहबाद क्षेत्र के नबीगंज जदीद गांव में फसल की सिंचाई कर रहे बसपा नेता मनोज कुमार पांडेय के भाई अनुज कुमार पांडेय को ठंड लग जाने से इलाज के दौरान दिल्ली में मौत हो गई। 


 वाराणसी, आजमगढ़ और विंध्याचल मंडल के लगभग सभी जिलों में दिनभर कोहरा छाया रहा। ठंड से भदोही में दो और बलिया, जौनपुर, वाराणसी में एक-एक की जान चली गई। खराब मौसम के चलते बाबतपुर हवाई अड्डे पर दोपहर तीन बजे तक कोई विमान नहीं उतरा। 


जबकि आठ उड़ान निरस्त कर दी गईं और 11 विमानों को डायवर्ट कर किया गया। गोरखपुर में न्यूनतम तापमान लुढ़ककर 6.9 डिग्री पहुंच गया। वेस्ट यूपी के शहर भी रातभर कोहरे की आगोश में रहे। मथुरा में न्यूनतम पारा पांच डिग्री पहुंच गया।


पश्चिमी यूपी में 5.1 डिग्री तक लुढ़का पारा


मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब और चंडीगढ़ के अधिकतर इलाकों में न्यूनतम तापमान 5.1 डिग्री या उससे नीचे पहुंच गया है। इससे ठिठुरन बढ़ रही है। आने वाले समय में पारे में और गिरावट का अनुमान है।


श्रीनगर की सबसे सर्द रात, पहलगाम सबसे ठंडा
जम्मू कश्मीर में सोमवार रात श्रीनगर की सबसे सर्द रात थी। यहां न्यूनतम पारा -4 डिग्री पहुंच गया। वहीं, पहलगाम -10.4 डिग्री के साथ सबसे ठंडा रहा। गुलमर्ग का न्यूनतम तापमान -10.2 डिग्री दर्ज किया गया। दक्षिण कश्मीर में कोकेरनाग में न्यूनतम तापमान -6 और कुपवाड़ा में -4.3 डिग्री रहा।


26.7 डिग्री के साथ द्रास सबसे ठंडा
केंद्र शासित लद्दाख में द्रास -26.7 डिग्री के साथ सबसे ठंडा रहा और लेह में 9.9 डिग्री की गिरावट के साथ पारा -16.7 डिग्री सेल्सियस तक लुढ़का।


पूर्वी भारत में दो दिन बारिश संभव
मौसम विभाग के अनुसार 25 व 26 दिसंबर को पूर्वी व मध्य भारत में बारिश होने की संभावना है जिससे ठंड और बढ़ेगी।
घने कोहरे में घिरा दिल्ली-एनसीआर 


दिल्ली-एनसीआर की मंगलवार की सुबह घने कोहरे से घिरी रही। बीते 24 घंटे में रात के तापमान में गिरावट और दिन के तापमान में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। इस बीच दिल्ली समेत एनसीआर के शहरों की हवा खराब हुई है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि बुधवार को तापमान में मामूली गिरावट आएगी। वहीं, हवा की चाल भी कम रहेगी। इससे प्रदूषण स्तर में भी बढ़ोतरी होने का अंदेशा है।


मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली की हवाएं अभी नम हैं। मंगलवार को आर्द्रता 76 से 100 फीसदी के बीच रही। सुबह आसमान साफ रहा। दोनों के मिले-जुले असर से घना कोहरा छाया था। तापमान कम होने से दिन में यह निचले स्तर का बादल बन गया। इससे सूरज की रोशनी धरती पर नहीं पहुंच सकी। इस तरह के मौसम से तापमान में ज्यादा बढ़ोतरी दर्ज नहीं हुई। कई इलाकों में बेहद ठंड की स्थिति बनी रही। 


अधिकतम तापमान सामान्य से 4 डिग्री सेल्सियस नीचे 17.2 पर रिकार्ड किया गया। वहीं, न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस नीचे 5.7 डिग्री सेल्सियस रहा। सोमवार को न्यूनतम व अधिकतम तापमान 8.3 व 14.3 पर रिकार्ड किया गया था।


प्रदूषण बढ़ा, नोएडा में हालात सबसे खराब
हवा की चाल कमजोर होने से दिल्ली-एनसीआर के प्रदूषण स्तर में बढ़ोतरी हुई। मंगलवार को हवा की रफ्तार 6 किमी प्रति घंटा थी। वहीं, मिक्सिंग हाइट 1500 मीटर रही। सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर नोएडा रहा। 


शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) गंभीर स्तर पर 413 रिकॉर्ड किया गया। गाजियाबाद का एक्यूआई 398, ग्रेटर नोएडा का 386, दिल्ली का 383, फरीदाबाद का 382, गुरुग्राम का 324 था। सीपीसीबी का पूर्वानुमान है कि बुधवार को प्रदूषण स्तर में मामूली सुधार होगा। 27 दिसंबर तक दिल्ली और पूरे एनसीआर में प्रदूषण गंभीर स्तर पर रहेगा।