उत्तराखंड : ज्यादातर हिस्सों में आज शुष्क रहेगा मौसम, शीतलहर की चपेट में गढ़वाल


प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में सोमवार और मंगलवार को मौसम शुष्क बना रहेगा। जबकि, ऊधमसिंहनगर और हरिद्वार में उथला से मध्यम कोहरा छाए रहने की संभावना है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक आज राजधानी देहरादून में धूप खिल आई। लेकिन ठंड का अहसास भी होता रहा।
 

मसूरी, उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पौड़ी, टिहरी, पिथौरागढ़, नैनीताल, अल्मोड़ा, चंपावत और बागेश्वर में भी धूप खिली रही। हरिद्वार, ऋषिकेष, रुड़की, उधमसिंह नगर आदि मैदानी क्षेत्रों में कोहरा छाया रहा।  मौसम विभाग से मिली ताजा जानकारी के अनुसार नए साल की शुरूआत हल्की बारिश से होगी। एक और दो जनवरी को प्रदेश के कई हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है।

मौसम विभाग के निदेशक विक्रम सिंह का कहना है कि 30 और 31 दिसंबर को ऊधमसिंहनगर और हरिद्वार को छोड़कर पूरे प्रदेश में मौसम शुष्क बना रहेगा। हालांकि, इन दोनों जनपदों में कोहरे के कारण दृश्यता ज्यादा खराब होने की संभावना नहीं है। इस संबंध में चेतावनी सभी जिलाधिकारियों को जारी कर दी गई है। 

अत्यधिक पाला गिरने से रपट रहे पर्यटकों के वाहन


उधर, रविवार को गढ़वालभर में चटक धूप खिली रही। हालांकि ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ होने की वजह से निचले इलाकों में दिनभर शीतलहर चलने से लोग शाम होते ही लोग घरों में दुबक गए। वहीं रुद्रप्रयाग जिले के कुंड-ऊखीमठ-चोपता-मंडल-गोपेश्वर हाईवे पर दुगलबिट्टा से आगे अत्यधिक पाला गिरने से पर्यटकों के वाहन रपट रहे हैं। इससे दुर्घटना की आशंका बनी हुई है।
 

चारों धामों में बर्फबारी के साथ ठंड का प्रकोप तेज हो गया है। केदारनाथ में तापमान अधिकतम 4, न्यूनतम -8 डिग्री सेल्सियस, बदरीनाथ में अधिकतम 3 और न्यूनतम -11, यमुनोत्री व गंगोत्री में अधिकतम 4 और न्यूनतम -10 डिग्री सेल्सियस तक लुढ़क रहा है।


कोहरे से बसों पर भी असर, सफर में घंटों की देरी झेल रहे मुसाफिर 



रुड़की में ठंड, शीतलहर और कोहरे की वजह से लोग अपने घरों से कम निकल रहे हैं। जिन्हें मजबूरन इस मौसम में सफर करना पड़ रहा है, उनकी तो आफत हो गई है। कोहरे की वजह से बसें अपने निर्धारित समय से कई घंटे की देरी से गंतव्य तक पहुंच रही हैं। एक ओर से यात्री ठिठुरते हुए बस स्टैंड पर बसों का इंतजार करने को मजबूर हैं। वहीं, गंतव्य तक पहुंचने में भी उन्हें मुसीबत झेलनी पड़ रही है। 


शहर में रविवार को धूप निकलने के बावजूद भी लोगों को ठंड से राहत नहीं मिली। धूप के बावजूद दिनभर शीतलहर चलती रही। स्थानीय लोगों ने ठंड के प्रकोप के चलते घर से बाहर न निकलने में ही समझदारी समझी। जिसके चलते बाजारों में दिनभर सन्नाटा पसरा रहा। दिक्कत वह उठा रहे हैं, जिन्हें ठंड और कोहरे के बावजूद सफर करना पड़ रहा है।
 

आलम यह है कि सामान्य दिनों में चार-पांच घंटे में दिल्ली से रुड़की और रुड़की से दिल्ली पहुंचने वाली रोडवेज बसों को छह से सात घंटे का समय लग रहा है। रुड़की बस स्टैंड पर बस के इंतजार में खड़े यात्रियों ने बताया कि कोहरे के चलते लांग रूट की बसों की टाइमिंग पूरी तरह गड़बड़ा गई है। दिल्ली, सहारनपुर, मेरठ और गाजियाबाद समेत तमाम रूट पर यही हाल है।