आम सहमति से भाजपा के 11वें अध्यक्ष चुने गए जगत प्रकाश नड्डा


जगत प्रकाश नड्डा सोमवार को आमसहमति से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष निर्वाचित हो गए। पीएम नरेद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, पार्टीशासित राज्यों के सीएम, डिप्टी सीएम और प्रदेश अध्यक्षों ने अध्यक्ष पद के लिए नड्डा के नाम का प्रस्ताव रखा। दोपहर बाद राष्ट्रीय चुनाव अधिकारी बनाए गए राधामोहन सिंह ने एक भव्य समारोह में नड्डा के अध्यक्ष निर्वाचित होने की घोषणा की। नड्डा ने इस दौरान पार्टी के वरिष्ठतम नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का पैर छू कर आशीर्वाद लिया।
 

नड्डा (59) को बीते लोकसभा चुनाव के बाद 19 जून को पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी दी गई थी। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में मंत्रिमंडल में जगह नहीं देने और कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने के बाद ही तय हो गया था कि नड्डा को संगठन की कमान दी जाएगी। खास बात यह है कि वर्ष 2014 में बतौर यूपी चुनाव प्रभारी अमित शाह को पार्टी की कमान दी गई थी, जबकि इस बार के लोकसभा चुनाव में नड्डा ने यूपी के चुनाव प्रभारी की भूमिका निभाई थी।
 

संघ-मोदी दोनों के करीबी


अध्यक्ष पद के लिए नड्डा राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के साथ-साथ पीएम मोदी की भी पसंद हैं। यही कारण है कि नड्डा वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद भी अध्यक्ष पद की रेस में थे। पीएम मोदी और नड्डा की नजदीकी तब बढ़ी जब नब्बे के दशक में पीएम हिमाचल प्रदेश के प्रभारी तो नड्डा राज्य सरकार में मंत्री। नड्डा की अध्यक्ष पद पर ताजपोशी के बाद पीएम ने उस दौर को याद करते हुए कहा कि मैंने नड्डाजी के साथ स्कूटर पर बैठ कर पार्टी का काम किया है।

नड्डा बोले घर-घर पहुंचाएंगे कमल


अध्यक्ष निर्वाचित होने के बाद नड्डा ने कहा कि भाजपा दूसरे दलों की तुलना में महज नीतियों में ही नहीं बल्कि नतीजों में अलग है। बतौर अध्यक्ष मैं पार्टी को पूरे देश में पहुंचाउंगा। पार्टी को उत्कर्ष की तरफ ले जाउंगा। नड्डा ने कहा कि आडवाणी-जोशी जैसे वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें आशीर्वाद दिया है। पीएम ने दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी को संभालने की जिम्मेदारी दी है। सभी प्रदेश इकाईयों ने भी मेरा निर्विरोध चयन किया है। अमित शाह के नेतृत्व में पार्टी ने ऊंचाई को छुआ, मुझमें जितनी सामथ्र्य है उन सबको लगा कर मैं भाजपा को उत्कर्ष की तरफ ले जाऊंगा।

शाह बोले यह पार्टी केलिए गर्व का क्षण


निवर्तमान अध्यक्ष एवं गृह मंत्री ने अध्यक्ष पद पर नड्डा के निर्वाचण को गर्व का क्षण बताया। उन्होंने कहा कि एक बार फिर साबित हुआ है कि भाजपा में परिवारवाद को जगह नहीं है। सामान्य कार्यकर्ता के तौर पर पार्टी के लिए काम की शुरुआत करने वाले नड्डा आज पार्टी के राष्टीय अध्यक्ष हैं। शाह ने कहा कि चाहे अनुच्छेद 370 हो, राम मंदिर हो या फिर नागरिकता संशोधन कानून पार्टी और सरकार पूरी दृढ़ता से चुनावी वादे पूरा कर रही है।
 

राजनाथ बोले और बड़ी जीत की पटकथा लिखेंगे नड्डा


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने नड्डा को बधाई देते हुए विश्वास जताया कि वह पार्टी को वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव से भी बड़ी जीत दिलाने की पटकथा लिखेंगे। उन्होंने कहा कि नब्बे के दशक में पार्टी का केंद्र की सत्ता में काबिज होने का सपना था। वर्ष 1996 में महज 13 दिन की सरकार बनी। हालांकि इसके बाद भाजपा की अगुवाई में लगातार दो बार सरकार बनी। बड़ा बदलाव वर्ष 2014 के चुनाव में आया जब भाजपा अपने दम पर बहुमत हासिल करने वाली पहली गैरकांग्रेस पार्टी बनी। इसके बाद के चुनाव में शाह के कार्यकाल में पार्टी ने 303 सीटें जीत कर नया इतिहास बनाया। उम्मीद है कि नड्डा इससे भी बड़ी जीत की पटकथा लिखेंगे।