डेढ महीने से न्याय के लिए पुलिस की चौखट में दौड रही विवाहिता

आशिक मिजाज युवती के जाल में फसे पति को आजाद कराने की गुहार लगा रही है विवाहिता।


कौशाम्बी। महेवाघाट थाना क्षेत्र की एक विवाहिता बीते डेढ महीने से अधिक समय से न्याय के लिए थाना से लेकर पुलिस कप्तान की कार्यालय तक फरियाद कर चुकी है लेकिन पीडित महिला को पुलिस महकमे से न्याय नही मिल सका है। जिससे महिला त्रस्त है आखिर इस पीडित महिला की फरियाद कौन सुनेगा यह सूबे के योगी सरकार की व्यवस्था पर बडा सवाल है। 


 जानकारी के मुताबिक महेवाघाट थाना क्षेत्र के मनकापुर की कुसमा देवी पुत्री रामदास की शादी चार पॉच वर्ष पहले इसी थाना क्षेत्र के हिनौता गांव निवासी सुनील कुमार पुत्र बन्ना चौधरी के साथ हिन्दू रिति रिवाज से हुयी थी लेकिन कुसमा का पति आशिक मिजाज था और उसने फतेहपुर जनपद के धाता थाना क्षेत्र के बम्हरौली गांव की एक युवती से ऑख मिचौली शुरू कर दी विवाहिता का आरोप है कि एक दिसम्बर को उक्त युवती उसके घर आयी थी और युवती ने उसके पति और छोटे से बेटे को लेकर चली गयी है। अब आशिक मिजाज युवती के चंगुल में फसे अपने पति और बेटे को आजाद कराने की गुहार विवाहिता लगा रही है। उसका कहना है कि युवती ने उसके साथ अभद्रता भी किया है।