कार्यकताओं को थप्पड़ मारने वाली कलेक्टर के खिलाफ FIR दर्ज कराएगी भाजपा


मध्यप्रदेश में भाजपा कार्यकर्ताओं ने सीएए के समर्थन में रविवार को राजगढ़ में बीच सड़क पर प्रदर्शन किया था। प्रदर्शन के दौरान उन्हें रास्ते से हटाने पहुंचे प्रशासन के अधिकारियों के साथ उनकी झड़प हो गई थी।इस घटना को लेकर अब प्रदेश में राजनीति शुरू हो गई है। भाजपा नेता जिले की दोनों महिला प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई में बुधवार को राजगढ़ जाएंगे।


 

बता दें कि राजगढ़ की जिलाधिकारी निधि निवेदिता एवं उप जिलाधिकारी प्रिया वर्मा ने जिले के ब्यावरा में रविवार को सीएए के समर्थन में धारा 144 के बाद भी रैली निकालने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं को थप्पड़ मारे थे। इस घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हुआ था।

प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर ने मंगलवार को कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह और प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव सहित भाजपा नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल जिला कलेक्टर और डिप्टी कलेक्टर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने बुधवार 22 जनवरी को राजगढ़ जाएगा।

पाराशर ने आरोप लगाया कि इन दो महिला प्रशासनिक अधिकारियों ने तिरंगा लेकर शांतिपूर्वक तरीके से विरोध कर रहे नागरिकों को पीटा। दूसरी तरफ प्रदेश कांग्रेस ने कहा कि भाजपा को महिला अधिकारियों के साथ दुर्व्यवहार करने के लिये माफी मांगनी चाहिए।

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने कहा कि भाजपा को अपने ही नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करानी चाहिए, जिन्होंने निषेधात्मक आदेश का उल्लंधन किया और महिला अधिकारियों के साथ दुर्व्यवहार किया।

जिलाधिकारी निधि ने सोमवार को  कहा था कि इस घटना का राजनीतिककरण से मैं व्यथित हूं। रविवार को मौके पर राजगढ़ की कलेक्टर निधि निवेदिता और डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा पुलिस बल के साथ पहुंची थी।कलेक्टर निधि की कार्यकर्ताओं से तीखी बहस हो गई थी और उन्होंने भाजपा नेता अमर सिंह को थप्पड़ जड़ दिया था। इसी दौरान डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा भी एक प्रदर्शनकारी को थप्पड़ मारने लगीं थी उसी वक्त किसी प्रदर्शनकारी ने डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा के बाल खींच दिए थे।