कोखराज थाना क्षेत्र के मूरतगंज चौकी इंचार्ज का कारनामा।

कौशाम्बी। कोखराज थाना क्षेत्र के चौकी मूरतगंज के इंचार्ज शिवकुमार मिश्रा का भी अजीबो गरीब कारनामा है। 100 डायल की पुलिस ने शमी उर्फ साहिल निवासी मितवापुर को पकड कर चौकी पुलिस को सौप दिया जिसका लोगो ने वीडीओ भी बना लिया। जिस समय 100 डायल ने शमी उर्फ साहिल को पकडा था उस समय शमी उर्फ साहिल के पास तमंचा नही था। शमी उर्फ साहिल के साथ एक और युवक अतीक अहमद पुत्र लाला निवासी बरीपुर को 100 डायल ने पकडा था जिसके कब्जे से 100 डायल के सिपाहियो ने तमंचा बरामद किया। इस बात को मौके पर मौजूद लोगो ने वीडीओ में कैद कर लिया। चौकी पुलिस ने जब शमी उर्फ साहिल पर मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा तो पुलिस मुकदमे में एक तमंचे का जिक्र कर दिया है। अब सवाल उठता है कि 100 डायल के सिपाहियो ने शमी उर्फ साहिल की गिरफ्तारी के समय जब तमंचा नही बरामद किया तो चौकी के दरोगा के पास तमंचा कहा से आया। कही चौकी इंचार्ज अपने चमचो के जरिये तमंचा फैक्ट्री का संचालन तो नही करवा रहे है। यह जॉच का विषय है और शमी उर्फ साहिल के पास से 100 डायल सिपाहियो के द्वारा तमंचा न बरामद किये जाने के बाद पुलिस चौकी मूरतगंज से तमंचा लगाये जाने के बाबत यदि जॉच हुयी तो चौकी इंचार्ज पर गाज गिरना तय है। 


तमंचा बरामदगी के बाद नही भेजा जेल 


कौशाम्बी। कोखराज थाना क्षेत्र के मूरतगंज चौकी अन्तर्गत 100 डायल के सिपाहियो ने लकडी माफिया लाल के बेटे अतीक अहमद को तमंचा के साथ गिरफ्तार कर मूरतगंज पुलिस चौकी को सौपा था गिरफ्तारी को दो दिन बीत चुके है लेकिन अभी तक तमंचा समेत पकडा गया अतीक अहमद जेल नही जा सका है। पुलिस ने एक दूसरे मामले में शान्ति भंग की धारा में उपजिलाधिकारी के सामने पेष किया है। आखिर तमंचा बरामद होने के बाद लकडी माफिया का बेटा कब जेल जायेगा। सूत्रो की माने तो यह लकडी माफिया पूरे जिले में हरे फलदार पेड की कटान में पूरे वर्ष लिप्त रहता है जिसके चलते इस लकडी माफिया के द्वारा चौकी पुलिस को मोटी रकम दी जाती है। सूत्र बताते है कि 50 हजार रूपया महीना मूरतगंज चौकी को हरे पेड की कटान में दिया जा रहा है जिसके चलते लकडी माफिया के बेटे को जेल भेजने में चौकी इंचार्ज मूरतगंज को पीडा हो रही है। यदि इस मामले की भी जॉच हुयी तो चौकी इंचार्ज मूरतगंज पर गाज गिरना तय है।