कोखराज थाना क्षेत्र की पुलिस की लापरवाही से पत्रकार के पिता उतारे गये मौत के घाट

कौशाम्बी। योगीराज में पुलिसिया खेल निराला है और अधिकारी भले ही अपने थानेदार को वीर बता रहे हो लेकिन थानेदारो की लापरवाही के चलते नामजद आरोपी थाना क्षेत्र में ही घूम घूम कर हत्या कर रहे है और थाना पुलिस को हत्यारे ढूढे नही मिल रहे है। गुरूवार को दिन दहाडे फिर नामजद आरोपियो ने एक पत्रकार के पिता की लाठियो से पीट दिया है। परिजन इलाज के लिए जिला अस्पताल लाये थे जहॉ घायल की मौत हो गयी है। इस घटना के बाद भी कोखराज पुलिस पर कार्यवाही नही हो सकी है और अभी तक हमलावर हत्यारो को पुलिस ने पकड कर जेल नही भेजा है। 


 घटनाक्रम के मुताबिक कोखराज थाना क्षेत्र के खालिसपुर निवासी मो0 शाहरूख एक टीवी चैनल के पत्रकार है और उन्होने बालू माफियाओ के खिलाफ खबर चलायी थी। जिससे बौखलाये बालू माफियाओ ने पत्रकार और उनके परिजनो पर प्राणघातक हमला कर दिया। जिसका कोखराज थाने में मुकदमा दर्ज हुआ था। इस मुकदमे के आरोपी कई महीने बाद भी गिरफ्तार नही हो सके है।


 आरोपियो के गिरफ्तारी के लिए पत्रकार और उनके परिजन सीओ एसपी से लेकर आईजी एडीजी तक गुहार लगा चुके लेकिन नामजद आरोपियो की गिरफ्तारी कोखराज पुलिस नही कर सकी है। जबकि नामजद आरोपियो इलाके में खुलेआम घूम रहे थे। गुरूवार को पत्रकार के पिता जफर उल्ला पर सैकडो लोगो के बीच उन्ही हमलावर वसीम अखतर कय्यूम अख्तर आदि ने प्राणघातक हमला कर दिया। जफर उल्ला को लाठियो से बेरहमी से पीटा गया।


 चौराहे पर बीच बचाव करने का किसी का साहस नही हो सका है और हमलावर जफर को पीटते रहे गम्भीर हालत में उन्हे अस्पताल में लाया गया जहॉ चिकित्सको ने उन्हे मृतक घोशित कर दिया। अब पुलिस की इससे बडी क्या लापरवाही होगी कि कोखराज थाने में 18/06/2019 को नसीम वसीम दानिश के विरूद्ध दर्ज मुकदमा में उनकी सात महीने बाद दानिष वसीम की गिरफ्तारी पुलिस नही कर सकी। इसी मुकदमे में नसीम जेल में है। नामजद अभियुक्त वसीम दानिष ने अपने दो अन्य साथियो के साथ मिलकर दिन दहाडे चाकवन चौराहे पर सैकडो लोगो के बीच पत्रकार के पिता की हत्या कर दी है। घटना को 48 घण्टे बीत गये है अभी तक कोखराज थाने के लापरवाह थानेदार एसआई और सिपाहियो को निलम्बित नही किया गया है। जो पुलिस अधिकारियो के कार्यो पर सवालिया निशान है।