कोरोना वायरस के लक्षण एवं बचाव

कौशाम्बी। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 पीएन चतुर्वेदी ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया है कि कोराना वायरस के लक्षण है सिरदर्द छींक खासी सांस की तकलीफ किडनी फेल हो जाना बुखार आना है। उन्होने बताया है कि इस बीमारी में पहले बुखार फिर सूखी खासी और हप्ते भर यही स्थिति रहने पर सांस की तकलीफ होने लगती है। उन्होने कोरोना वायरस के सन्दर्भ में यात्रियों हेतु आवश्यक जानकारी भी जारी की है


 उन्होने कहा है कि ऐसे सभी यात्री जिन्होने पिछले 14 दिनों के दौरान चीन देश प्रान्त के हुबेई प्रान्त के बोहान शहर की यात्रा की हो और जिनमें अचानक बुखार खासी अथवा सांस लेने में परेशानी के लक्षण हों तो उन्हे तत्काल बार्डर चेकपोस्ट पर स्वास्थ्य टीम अथवा सीमा सुरक्षा बल अथवा इमीगेशन अधिकारियों से सुरक्षा प्रदान कर इसकी जानकारी देनी चाहिए। 


उन्होने यह भी बताया है कि यदि यात्री इस सीमा से प्रवेश करने के 28 दिनों के भीतर बुखार और खांसी जैसे लक्षण ग्रसित होते है तो वे घर के बाहर आवागमन न करें और राज्य सरकार के 24 घण्टे के हेल्पलाइन नम्बर.1800 180 5145 तथा 0522.2616482 अथवा भारत सरकार के हेल्पलाइन नम्बर.011.23978046 पर तत्काल संपर्क करें। 


उन्होने कोरोना वायरस से संक्रमण के खतरे को कम करने के उपाय भी बताये है उन्होने कहा है कि साबुन और पानी से हाथ साफ रखे छींकते वक्त नाक और मुंह ढकें सर्दी या फ्लू से संक्रमित लोगों के पास जाने से बचें जीवित जंगली या पालतू पशुओं से दूर रहें। उन्होने बताया है कि कोरोना एक फ्लू की तरह ही है यह वायरस श्वसन तन्त्र को प्रभावित करता है। वायरस का संक्रमण तेजी से फैलता है इसका सटीक इलाज अब तक नहीं पता है ऐसे में मरीज का सिम्टोमेटिक ट्रीटमेन्ट किया जाता है इसका इलाज स्वाइनफ्लू की तरह ही होगा।