शरजील ने जाहिर किए अपने खतरनाक मंसूबे, भारत को चाहता है इस्लामिक देश बनाना

शाहीन बाग में प्रदर्शन के कथित समन्वयक और देशद्रोह के आरोपी जेएनयू के शोधार्थी शरजील इमाम पुलिस रिमांड पर


नई दिल्ली ।    शाहीन बाग में प्रदर्शन के कथित समन्वयक और देशद्रोह के आरोपी जेएनयू के शोधार्थी शरजील इमाम पांच दिन की पुलिस रिमांड पर है और पूछताछ के दौरान उसने कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। सूत्रों के हवाले से सबसे बड़ी बात जो निकलकर सामने आई है वो ये कि उसे अपनी गिरफ्तारी का कोई पछतावा नहीं है। पुलिस रिमांड के दौरान पूछताछ ये खुलासा हुआ है कि वह अत्यधिक कट्टरपंथी है और यह बात मानता है कि भारत को एक इस्लामिक देश होना चाहिए। उसने ये बात भी कबूल की है कि उसके वीडियो के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है, जो उसने अलग-अलग जगहों पर दी है।इसके साथ ही शरजील ने ये भी कहा है कि उसे गिरफ्तारी का कोई पछतावा नहीं है। पुलिस इस वक्त उसके इस्लामिक यूथ फेडरेशन और पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया से कोई ताल्लुक हैं या नहीं इसका पता लगा रही है। पुलिस ने उसके सभी वीडियो फॉरेंसिक लैब भेज दिए है और उसके सोशल मीडिया अकाउंट की जांच भी कर रही है। गौरतलब है कि शरजील को बुधवार को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया जाना था। देश को तोड़ने की साजिश के आरोपी को सख्त सजा की मांग लेकर वकीलों के प्रदर्शन की आशंका और तनावपूर्ण माहौल के कारण बाद में उसे कड़ी सुरक्षा के बीच साकेत कोर्ट के मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के निवास पर पेश किया गया। पुलिस ने शरजील को पांच दिन के रिमांड पर लिया है। पूछताछ के दौरान शाहीन बाग में प्रदर्शन और देशभर में राष्ट्रविरोधी तत्वों से उसके तार जुड़ने के राज खुलने की संभावना है।पटियाला हाउस कोर्ट में वकीलों ने शरजील को गद्दार बताते हुए नारे लगाए थे। पोस्टर लगाकर उसे सख्त सजा देने की मांग की गई थी। भारी विरोध और तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए भारी पुलिस बल और सीआरपीएफ की तैनाती की गई थी।शरजील के खिलाफ उत्तर प्रदेश, दिल्ली, असम और अन्य राज्यों में भी देशद्रोह सहित संगीन धाराओं में मामले दर्ज हैं। बिहार के जहानाबाद से मंगलवार को गिरफ्तारी के बाद पुलिस बुधवार को उसे पटना से दिल्ली लाई है।