सुपर 100 की टीम हरदोई की शैक्षिक गुणवत्ता में एक नया परिवर्तन लाएगीः जिलाधिकारी

रसखान प्रेक्षागृह में बेसिक शिक्षा की सुपर 100 टीम की एक कार्यशाला का आयोजन किया गया
सुपर 100 की टीम हरदोई की शैक्षिक गुणवत्ता में एक नया परिवर्तन लाएगीः-जिलाधिकारी
04. रसखान प्रेक्षाग्रह में बेसिक शिक्षा की सुपर 100 टीम की एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का शुभारंभ जिलाधिकारी पुलकित खरे द्वारा दीप प्रज्ज्वलितकर, मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण करके किया। इसके पश्चात जिला विद्यालय निरीक्षक वी0के0 दुबे एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हेमन्त राव द्वारा जिलाधिकारी को पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया गया इस अवसर पर उपस्थित बी.ई.ओ आइ पी सिंह जी द्वारा बेसिक शिक्षा अधिकारी का बैज अलंकरण कर स्वागत किया गया। इस अवसर पर उप शिक्षा निदेशक वी के दुबे की भी गरिमामयी उपस्थिति रही। 
कार्यशाला में जिलाधिकारी ने अपने सम्बोधन में कहा कि जनपद की सुपर 100 टीम के 100 शिक्षकों को इस कार्य के लिए चुना गया है कि ये शिक्षक अपने विकास खण्ड के डी एवं ई श्रेणी के स्कूलो में जाकर समस्त बच्चों को ई श्रेणी से निकालकर बाहर लाना है, जो कि ब्लॉक में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दे रहे हैं इन शिक्षकों को अपने विकासखंड में लर्निंग आउटकम में सी.डी.ई. श्रेणी के विद्यालय में जाकर सपोर्ट इस ऑपरेशन का कार्य करना होगा ताकि शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार किया जा सके और आने वाली 14 फरवरी को होने वाली लर्निंग आउटकम की परीक्षा में हम अपने शैक्षणिक गुणवत्ता के स्तर को सुधार कर सकें, उन्होंने बताया कि यह सुपर 100 की टीम जनपद के लिए एक कोर टीम का  काम करेगी। यह सुपर 100 की टीम निश्चय ही प्रदेश स्तर पर एक नजीर बनेगी और हरदोई की शैक्षिक गुणवत्ता में एक नया परिवर्तन लाएगी। एस आर जी सदस्य राधेश्याम दीक्षित ने गतिविधि आधारित शिक्षण पर चर्चा करते हुए लर्निंग आउटकम और फोकल आउटकम पर जानकारी टीम के साथ साझा किया। 
एस.आर.जी. डॉ अभय जैन ने बताया कि लर्निंग आउटकम को बढ़ाने के लिए बच्चों के साथ गतिविधि आधारित शिक्षण पद्धति का प्रयोग करेंगे जिससे निश्चय ही इस दिशा में सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। शिवम शर्मा ने सुपर100 टीम के साथ लर्निंग आउटकम के डाटा को साझा किया। इस कार्यक्रम का संचालन बीईओ डॉ सत्यप्रकाश यादव ने किया। इस अवसर पर बीईओ आईपीसिंह, सोमनाथ विश्वकर्मा, चन्द्रशेखर यादव, आर पी त्रिपाठी, मनोज बोस, भगवान राव आदि उपस्थित रहे।