अस्थायी गौशाला में  गायों की ज़िंदगी के साथ खेला जाता है खेल

42 गायों को सूखा चारा खिला रहे है ग्राम प्रधान


मंझनपुर तहसील के एकौरा गांव का है मामला।


कौशाम्बी। मंझनपुर तहसील के एकौरा गांव के बने गौशाला में गायों को सूखा चारा खिलाकर योगी सरकार को ज़िम्मेदार दोषी ठहरा रहे है भरपेट चारा ना मिल पाने से दिन प्रतिदिन गाय कमजोर हो रही है ग्राम प्रधान 42 गायों का मंथली 37800 
रुपये आता है जिसे ग्राम प्रधान व सेग्रेटरी की मिली भगत से गौशाला का आधा पैसा गायब कर दे रहे है इसी कारण गायों की हालत खराब है और गाय मरने की कगार पर है अव्यवस्था और राशन की कमी के चलते गौशाला में कई गाय की पूर्ब में मौत हो चुकी है अगर गौशाला की संपूर्ण जांच उच्चाधिकारी द्वरा कराई गई तो ग्राम प्रधान और सेक्रेटरी का जेल जाना तंय माना जाता है