बाल संरक्षण समिति की बैठक सम्पन्न

कौशाम्बी। मुख्य विकास अधिकारी महोदय की अध्यक्षता में समेकित बाल संरक्षण योजना के अन्तर्गत जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक 18 वर्ष से कम आयु के बालक/बालिका हेतु बाल संरक्षण के सशक्त संरक्षणात्मक परिवेश का निर्माण, उचित पालन पोषण करने, परिवार की देखरेख पाने, हिंसा व दुर्व्यवहार से बचाने के उद्देश्य से की गयी बैठक में वर्ष 2019 की कार्ययोजना की समीक्षा की गयी कार्ययोजना के अनुसार कार्य कराये जाने के निर्देष दिये गये।संरक्षण अधिकारी अजीत कुमार के द्वारा बताया गया कि माह जनवरी में सात ब्लाकों में ब्लाक बाल संरक्षण समिति की बैठक करायी गयी है। 


संस्था खुला आश्रय गृह का निरीक्षण जिला निरीक्षण समिति द्वारा करा दिया गया है। तथा स्पान्सरशिप हेतु 28 बच्चों, फास्टर केयर हेतु 02 बच्चों का चयन कर शासन को भेज दिया गया है। मुख्य विकास अधिकारी, महोदय द्वारा उपयुक्त व्यक्ति का चयन करने, किशोर न्याय बोर्ड में लम्बित केसों का निस्तारण करने, ग्राम बाल संरक्षण समिति की बैठक का रोस्टर जारी करने उनकी कार्यवृत्ति जिला प्रोबेशन कार्यालय को भेजने तथा बाल विवाह को रोकने हेतु समस्त सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देष दिय गये।


 बाल मित्र, ग्राम पंचायत बनाने हेतु 30 ग्राम पंचायतों के नामित नोडल अधिकारियों को संरक्षण अधिकारी एवं द्वावा विकास उत्थान सेवा समिति के सदस्य मो0 रेहान द्वारा प्रशिक्षण दिया गया। बैठक में जिला प्रोबेशन अधिकारी, डा0 हिन्द प्रकाश मणि, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, बाल श्रम अधिकारी, सी0ओ0 मंझनपुर, एस0जे0पी0यू0 प्रभारी, एस0आई0रितू0 तिवारी, महिला कल्याण अधिकारी, आई0सी0पी0एस0 स्टाफ, वनस्टाप सेन्टर, द्वावा उत्थान सेवा समिति के सदस्य सहित समस्त सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।