किसानों के घर घर पहुँच रहे है किसान ज़न जागरण अभियान में कांग्रेस नेता

किसानों ने कहा कि भाजपा सरकार है किसान विरोधी।


कौशाम्बी। कांग्रेस पार्टी के प्रदेश महासचिव एवं कौशांबी ज़िला प्रभारी  विवेकानंद पाठक  के साथ जिला महासचिव फैसल अली, किसान अध्यक्ष एवं पूर्व ज़िला पंचायत अध्यक्ष  रजनीश पांडे ने कॉंग्रेस पार्टी द्वारा प्रदेश में किसान जन जागरण अभियान के अंतर्गत रविवार 16 फरवरी को ज़िले के चायल विधानसभा के कई गाँव चरवा, बलिपूर टाटा, पुरखास, फकीराबाद, किशनपूर अंबारी, सरायं अकिल का दौरा कर किसानों से उनके घर और खेतों में जा कर किसानों की  खेती की समस्याओं को सुना


किसानों ने अपनी समस्या बताते हुआ कहा की मौजूदा भाजपा सरकार किसान विरोधी सरकार है जिसने उद्योगपतियों का करोड़ों रुपया कर्ज माफ़ किया मगर किसान पर कर्ज का बोझ बढ़ता गया, फसल की लागत कई गुना बढ़ गई  मगर किसान को फसल का सही दाम नहीं मिला। भाजपा राज में गन्ने का दाम 1 रुपया भी नहीं बढ़ा और किसानों का हजारों करोड़ का भुगतान बकाया है। इस सरकार में डीजल के दाम 70-75 रुपया प्रति लिटर पहुंच गया।किसानों ने कहा कि यूरिया के कट्टे का वजन घटाकर 45 किलोग्राम कर दिया लेकिन दाम बड़ा दिया। महंगाई असमान छू रही है, ग्रामीण इलाकों में बेरोजगारी 40 सालों में सबसे ज्यादा बढ़ गई। भाजपा राज में ग्रामीण इलाकों में क्रय क्षमता पिछले 7 सालों में सबसे कम है एवं भूमि अधिग्रहण कानून को बदलकर किसानों की जमीन छीनने की कोशिश की गई।


प्रदेश महासचिव विवेकानंद पाठक ने  किसानो से मिलकर उनकी समस्याओं को सुनते हुआ कहा की केंद्र में जब कांग्रेस की सरकार थी तब कांग्रेस ने किसानों का 70,000 करोड़ का कर्ज़ माफ़ किया, धान और अरहर सहित कई फसलों का समर्थन मूल्य में तीन गुना बढ़ोतरी हुई, धान के समर्थन मूल्य में 800 रुपया प्रति क्विंटल बढ़ोतरी की गई, डीजल के दाम 40-50 रुपया प्रति लिटर में मिलता था। कांग्रेस सरकार में ग्रामीण इलाकों में मजदूरी मनरेगा के अंतर्गत 4 गुना बढ़ी तथा मनरेगा योजना के चलते 14 करोड़ लोग गरीबी रेखा से बाहर आये। 10 साल की सरकार में कृषि विकास दर की रफ्तार दुगनी हो गई। किसान की जमीन का मुआवजा चार गुना हो इसीलिए भूमि अधिग्रहण कानून बनाया।


ज़िला महासचिव  फैसल अली ने कहा की वर्तमान में देश जहां में कांग्रेस शासित राज्य है वहाँ सरकार बनते ही किसान का कर्जा माफ़ किया, छत्तीसगढ़ में किसानों का बिजली का बिल हाफ किया, इससे 35 लाख उपभोक्ताओं को लाभ मिला, आवारा पशुओं के समाधान के लिया गौशालाओ का निर्माण किया। छत्तीसगढ में धान के 2500 रुपया प्रति कुंतल मिलता है और बिचौलियों को हटाने के लिया सीधी हेल्पलाइन है। इस कार्यक्रम के अन्तर्गत किसान मांग पत्र भरवा गया। इस मौके पर सलमान अहमद, मथुरा प्रसाद, मससन, रफीक भाई एवं भारी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे।