नकल विहीन परीक्षा का दावा फेल सीसीटीवी कैमरे बंद

कौशाम्बी। माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाई स्कूल इंटर बोर्ड परीक्षा 77 केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में हो रही है। लेकिन शिक्षा माफिया सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग लीड निकालकर परीक्षा संचालित करवा रहे हैं। इससे प्रशासन का नकल विहीन परीक्षा का दावा फेल हो रहा है। वहीं पर बिजली की आंख मिचौली से अधिकतर परीक्षा केंद्रों के सीसीटीवी कैमरे बंद रहते हैं। हिंदी प्रथम प्रश्न पत्र की परीक्षा में लगे दो स्टैटिक मजिस्ट्रेटो को जिलाधिकारी ने फटकार लगाई। 18 फरवरी से 6 मार्च तक चलने वाली हाई स्कूल इंटर बोर्ड परीक्षा नकल विहीन संपन्न कराने के लिए, प्रत्येक परीक्षा केंद्रो में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। परीक्षा के दौरान मुख्यालय पर स्थित कंट्रोल रूम से परीक्षा के संचालन की निगरानी करने की व्यवस्था है। सूत्रों का कहना है। कि परीक्षा केंद्रों में लगे सीसीटीवी कैमरे तकनीकी खराबी से बंद है ।या फिर बिजली की आंख मिचौली से करें बंद हैं। लोगों का यह भी कहना है। कि शिक्षा माफिया धंधा चलाने के लिए, परीक्षा कक्षों में लगे सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग लीड निकाल दी जाती है। इससे कमरों के मानीटर पर परीक्षा की गतिविधियां दिख रही है ।लेकिन फोटो फ्लैस सेव नहीं हो रहा है। द्ववबा के अधिकतर विद्यालय परीक्षा के समय खुलते हैं। जो किसी न किसी तरह नेता मंत्री से दबाव बनाकर परीक्षा केंद्र बनवाने में सफल हो जाते हैं ।वहीं शिक्षा माफिया परीक्षार्थियों से मनमानी धन वसूल कर डिग्री बांटते है।मंगलवार के दिन हिंदी प्रथम पत्र प्रश्न हाई स्कूल परीक्षा संचालन का निरीक्षण जिलाधिकारी व जोनल मजिस्ट्रेट ने किया कई परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी कैमरे बंद पाए गए, जिलाधिकारी ने केंद्र व्यवस्थापको सहित स्टैटिक मजिस्ट्रेटो को फटकार लगाते हुए। परीक्षा की शुचिता को बनाए रखने का निर्देश दिया।