UP के कार्यकारी DGP हितेश चंद्र अवस्थी ने संभाला कार्यभार, कहा- हम पर कोई उंगली न उठाने पाए

 


अवस्थी आगे कहते हैं कि थाना पुलिस हो या बीट पुलिस सबका जनता से बेहतर व्यवहार करेगी. वहीं ट्रैफिक व्यवस्था सुचारू रहे इस पर हमारा प्रयास रहेगा।
 
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कार्यकारी पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी (Hitesh Chandra Awasthi) ने शुक्रवार शाम कार्यभार ग्रहण कर लिया. मीडिया से बातचीत में हितेश चंद्र अवस्थी ने कहा कि शासन के आदेश पर कार्यवाहक डीजीपी के तौर कार्यभार ग्रहण किया है. उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता आम लोगों के साथ पुलिस का बेहतर व्यवहार होगी. कार्यकारी डीजीपी ने कहा कि हम पर कोई उंगली न उठाने पाए ये हमारी प्राथमिकता है, वहीं बेहतर पुलिस ट्रेनिंग को विशेष फोक्स होगा. अवस्थी आगे कहते हैं कि थाना पुलिस हो या बीट पुलिस सबका जनता से बेहतर व्यवहार करेगी. वहीं ट्रैफिक व्यवस्था सुचारू रहे इस पर हमारा प्रयास रहेगा.
कार्यकारी पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी ने दावा करते हुए कहा कि फॉरेंसिक, साइंटिफिक तरीकों से साइबर अपराधों को रोकना हमारी बड़ी प्राथमिकता होगी. जबकि बीट प्रणाली को इफेक्टिव करना होगा.  अवस्थी ने कहा कि महिला और बाल अपराधों को नियंत्रण में करना है. मीडिया से बातचीत के बाद कार्यवाहक डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी मुख्यमंत्री की बैठक में शामिल होने के लिए रवाना हो गए.
वैसे ये भी दिलचस्प है कि उत्तर प्रदेश जैसे बड़े प्रदेश में ब्यूरोक्रेसी टीम को लीड करने वाले मुख्य सचिव भी यहां पिछले कई महीनों से कार्यकारी हैं. बता दें कि 31 अगस्त, 2019 को अनूप चंद्र पांडेय के रिटायर होने के बाद मुख्य सचिव की खोज शुरू हुई थी लेकिन वो अभी 31 जनवरी तक पूरी नहीं हो सकी है. ऐसी स्थिति में मुख्य सचिव पद पर कार्यकारी के तौर पर राजेंद्र कुमार तिवारी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं. खास बात है कि महीनों से प्रदेश में मुख्य सचिव बनने की रेस जारी है और राजेंद्र तिवारी इसमें भी नंबर वन हैं।