_विजयपाल की जिला पंचायत सदस्यता समाप्त, चुनाव लड़ने पर भी 5 साल के लिए बैन_

जिला पंचायत अध्यक्ष सविता चौधरी के बर्खास्त होने के बाद शासन स्तर से आज एक और बड़ा फैसला हुआ है। इसमें विजयपाल की जिला पंचायत सदस्यता समाप्त कर दी गई है और उनके चुनाव लड़ने पर 5 साल के लिए बैन कर दिया गया है। जिला पंचायत की सियासत में यह बहुत बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है अब जिला पंचायत बोर्ड में 47 सदस्यों से घटकर 45 सदस्य रह गए हैं। हालांकि कविता के प्रमाण पत्र पर भी शासन स्तर पर कार्रवाई चल रही है उसमें भी जल्द कोई फैसला आने की उम्मीद है। इसके बाद सालियर जिला पंचायत सदस्य सीट से निर्वाचित महिला सदस्य की सदस्यता पर पर भी कार्रवाई होने के आसार हैं। इसी सिलसिले में दौलतपुर जिला पंचायत सदस्य भूप सिंह पर भी जल्द कार्रवाई हो सकती है। बता दे कि कुछ दिनों पहले ही सविता चौधरी को जिला पंचायत अध्यक्ष पद से बर्खास्त कर दिया गया था। हालांकि उनके द्वारा शासनादेश के खिलाफ नैनीताल हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई है। वहां पर   कई तारीख लग चुकी है ।लेकिन अभी तक सविता चौधरी को कोई राहत नहीं मिल पाई है। इसी बीच विजयपाल की सदस्यता समाप्त हो गई है ।यह कार्रवाई सविता चौधरी खेमे को के लिए बहुत बड़ा झटका माना जा रहा है। विजयपाल के खिलाफ यह कार्रवाई वीरेंद्र सिंह ,नीलू चौधरी,अफरोज बेगम, बबली चौधरी आदि सदस्यों की शिकायत पर हुई है। जिसमें 10 बिंदुओं पर जांच हुई है। और शिकायत के सभी बिंदुओं की जांच में पुष्टि हुई है। उन पर दुकानों के आवंटन के मामले में भी गड़बड़ी के आरोप है। विजयपाल कांग्रेस शासन में जिला पंचायत संचालन को गठित की गई कमेटी के नामित सदस्य रहे हैं । हालांकि इस कमेटी में कुसुम चौधरी और ताहिर हसन भी सदस्य थे। रिकवरी की कार्रवाई इनके खिलाफ भी की जा रही है। विजयपाल से शासन ने जवाब मांगा था ।इस संबंध में उन्हें नोटिस जारी किया गया था। इस नोटिस के पर उन्होंतने शासन को जवाब देने के बजाय हाईकोर्ट का रास्ता अख्तियार कर लिया था। हाईकोर्ट ने कुछ समय के लिए रोक लगा दी थी ।लेकिन आखिर में उन्हें शासन को ही नोटिस का जवाब देना था ।लेकिन उनके द्वारा शासन को नोटिस नहीं जवाब नहीं दिया गया। इस पर प्रशासन ने आज कार्रवाई कर दी है। उनके चुनाव लड़ने पर भी 5 साल के लिए बैन लगा दिया गया है। जिससे कि विजयपाल व उनके समर्थकों में हड़कंप मचा हुआ है। जानकारी के लिए बता दें कि जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव की कभी भी अधिसूचना जारी हो सकती है इसके लिए जोड़-तोड़ चरम पर है। भाजपा की ओर से चौधरी सुभाष वर्मा अध्यक्ष पद के लिए पूरी तैयारी में है। जबकि पूर्व अध्यक्ष जिला पंचायत हरिद्वार चौधरी राजेंद्र सिंह खेमे की ओर से अध्यक्ष पद के लिए कौन आएगा इसको लेकर अभी अटकलें मात्र लगाई जा रही हैं।


Popular posts
माघ मेले में रेलवे की तैयारियां 14 दिन के मंथन के बाद भी शून्य, ऐसे में यात्रियों का परेशान होना तय
Image
हरिद्वार में 2021 में प्रस्तावित महाकुंभ का स्वरूप भव्य और दिव्य होने का दिया संकेत
Image
फिल्म अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी व उनकी मां पर करोड़ों की ठगी का आरोप
Image
आईसीसी ने बिश्नोई समेत भारत-बांग्लादेश के पांच खिलाड़ियों पर की कार्रवाई, अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल में हुए विवाद के बाद आईसीसी ने उठाया सख्त कदम
स्वामित्व योजना के अंतर्गत तैयार किए गए प्रॉपर्टी कार्ड का डिजिटल वितरण करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
Image