अंतिम दिन पांच मिनट में बजट तथा तीन मिनट में विधेयक पारित, बजट सत्र अनिश्चित काल के लिए स्थगित

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानमंडल का बजट सत्र शुक्रवार को समाप्त हो गया। विधान भवन में अंतिम दिन सिर्फ पांच मिनट में बजट तथा तीन मिनट में विधेयक पारित हो गए। सदन वैसे तो सात मार्च तक चलना था, लेकिन सरकार के इसे आज समाप्त करने पर विपक्ष ने मौन रखा और नेता मुंह पर मास्क लगाकर बैठे थे।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सदन को संबोधित किया और कहा कि विधान मंडल का बजट सत्र आज ही खत्म हो गया। उन्होंने कहा कि आज सदन की कार्यवाही का 16 वां दिन है। सदन की 13 फरवरी से शुरूआत हुई थी। इसके बाद विपक्ष से सरकार के रवैये की आलोचना की। इसके बीच भी सरकार ने पांच मिनट में बजट तथा तीन मिनट में विधेयकों को पारित कराया। उन्होंने कहा कि विधायकों के वेतन-भत्ते बढाने के लिए एक समिति बनाई जायेगी और उसकी सिफारिश पर सरकार काम करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी दलीय नेताओं को धन्यवाद देता हूं। सभी माननीय सदस्यों को धन्यवाद देता हूं और सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष देना या दीक्षित व प्रमुख सचिव विधानसभा को भी धन्यवाद देता हूं।


उन्होंने कहा कि सदन आज ही समाप्त होने पर बड़ी-बड़ी बातें हो रही हैं, इससे पहले तमाम मुद्दों को लेकर 48 घंटे लगातार सदन हम लोगों ने चलाने का काम किया था। उस वक्त सभी दलों के नेताओं ने सहमति दी थी लेकिन बाद में कोई भी सदन में नहीं आया। संसद की तर्ज पर विधानसभा की कार्यवाही को कैसे समृद्ध बनाया जाए इस पर विपक्ष को भी विचार करना चाहिए।  दलीय नेता तो बोलते हैं लेकिन नए सदस्यों को मौका नहीं मिल पाता उनके अंदर कुछ कर गुजरने की तमन्ना होती है।


Popular posts
वीएलसीसी (VLCC) ने उत्तर प्रदेश में २० वर्ष पुरे किए, २० नए वेलनेस सेंटर और १० कौशल विकास संस्थान ( स्किल डेवेलपमेंट इंस्टीटयूट्स ) खोलने के लिए तैयार है।
Image
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को देश के अलग-अलग हाईकोर्ट के न्यायाधीशों के स्थानांतरण को दी मंजूरी
Image
सपा लोहिया वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामकुमार निर्मल म्योहर पहुंचे
Image
दिल्ली-एनसीआर समेत पूरा उत्तर भारत इन दिनों शीतलहर की चपेट में
Image
राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन एवं कालाजार ( विश्लेरल लिश्मेनिएसिस ) उन्मूलन कार्यक्रम की जिला स्तरीय वर्चुवल समीक्षा।
Image