गंभीर लापरवाही खराब हेड लाइट वाली बस भेजी आजमगढ़


रोडवेज प्रवासी श्रमिकों को सुरक्षित उनके घरों तक पहुंचाने के दावे कर रहा है। लेकिन गुरुवार को गंभीर लापरवाही सामने आई, जब रोडवेज का संविदा चालक खराब हेड लाइट वाली बस में सवार 44 श्रमिकों को लेकर अंधेरे में ही आजमगढ़ के लिए रवाना हो गया। गनीमत रही कि रास्ते में कोई हादसा नहीं हुआ, लेकिन श्रमिकों की नाराजगी के बाद मामला अवध बस डिपो पहुंचा। अब मामले में ड्राइवर की लापरवाही मानते हुए उस पर गाज गिरना तय माना जा रहा है।


अवध बस डिपो की एसी जनरथ बस यूपी 33 एटी 5856 का चालक गुरुवार रात करीब आठ बजे खराब हेडलाइट वाली बस को 260 किलोमीटर दूर आजमगढ़ ले गया। उसने करीब सात घंटे के सफर में 44 श्रमिकों की जान जोखिम में डाल दी। रास्ते भर श्रमिक  चालक से इसपर नाराजगी भी जताते रहे।
मगर चालक का आरोप है कि फोरमैन ने बस को ओके करने के बाद दिया है। बस की जांच में बैटरी और अल्टरनेटर भी काम नहीं कर रहा था। जब उसने बस ले जाने से मना किया तो फोरमैन ने उसे जबरन बस ले जाने के लिए कहा। इतना ही नहीं स्टेशन पर बस को धक्का लगाकर स्टार्ट करना पड़ा था। 
इस मामले में अवध डिपो के एआरएम गोपाल दयाल ने बताया कि बस की लाइट ठीक नहीं थी। इसलिए ड्राइवर को बस लेकर जाना ही नहीं चाहिए था। अगर और दिक्कतें थीं तो उसने कोई सूचना क्यों नहीं दी। ये ड्राइवर की मनमानी है। घटना होने पर कौन जिम्मेदार होता? मामले में संविदा चालक से जवाब तलब किया गया है।


Popular posts
मुख्य सचिव श्री राजेंद्र प्रसाद तिवारी जी से किसानों एवं किसान मित्र योजना को लेकर  वार्ता
रामजन्मभूमि निर्माण निधि महाअभियान के नाम पर फर्जीवाड़े का मामला, भाजपा नेताओं की तहरीर पर सिविल लाइंस पुलिस ने केस दर्ज
Image
उत्तर प्रदेश के बड़ौत के धरने पर रात के समय किसानों पर किए गए लाठीचार्ज के विरोध में आज बड़ौत तहसील में महापंचायत में रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चैधरी भी शामिल होंगे
Image
यूपी के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने सरस्वती पुरम में बांटी राहत सामग्री
Image
सीबीएसई की ओर से सेंट्रल टीचर एलिजबिलिटी टेस्ट (सीटेट) में रविवार को 101 केंद्रों पर 52 हजार अभ्यर्थी शामिल होंगे
Image