श्रमिकों को रोजगार देने के लिए यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई बैठक में एमओयू किया साइन


लखनऊ। अलग-अलग राज्यों से वापस यूपी आए प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने के लिए यूपी सरकार ने इंडियन इंडस्ट्रीज के साथ मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग (एमओयू) साइन किया। दावा है कि इस करार से करीब 11 लाख श्रमिकों को रोजगार मिलेगा।


शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई बैठक में एमओयू साइन किया गया।
 


लॉकडाउन में दूसरे राज्यों से लौटे श्रमिकों को उनकी दक्षता के हिसाब से इंडस्ट्री में समायोजित कराने के लिए यह एमएयू किया जा रहा है। इसके लिए योगी सरकार ने उनकी स्किल मैपिंग कराई है।


राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि इंडियन इंड्रस्टीज एसोसियेशन (आईआईए) ने 5 लाख, नरडेको (नेशनल रीयल एस्टेट डवलपमेंट काउंसिल) ने 2.5 व कंफेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज (सीआईआई) ने 2 लाख कामगार व श्रमिकों की मांग की है। आईआईए व सीआईआई एमएसएमई इकाइयों तथा नरडेको रीयल एस्टेट संस्थानों में श्रमिकों को रोजगार दिलाने का काम करेगा। इनके अलावा कुछ और औद्योगिक संगठनों की तरफ से लगभग 1.5 लाख श्रमिकों की मांग प्रदेश सरकार से की गई है।


Popular posts
मुख्य सचिव श्री राजेंद्र प्रसाद तिवारी जी से किसानों एवं किसान मित्र योजना को लेकर  वार्ता
Bigg Boss 13 : सलमान खान ने बतौर होस्ट पूरे किए 10 वर्ष, ऐसे किया गया सेलिब्रेट
Image
रामजन्मभूमि निर्माण निधि महाअभियान के नाम पर फर्जीवाड़े का मामला, भाजपा नेताओं की तहरीर पर सिविल लाइंस पुलिस ने केस दर्ज
Image
उत्तर प्रदेश के बड़ौत के धरने पर रात के समय किसानों पर किए गए लाठीचार्ज के विरोध में आज बड़ौत तहसील में महापंचायत में रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चैधरी भी शामिल होंगे
Image
क्लोन बनाकर सवा लाख रुपये उड़ाने वाले शातिर पीयूष शुक्ला को किया गिरफ्तार