राम मंदिर पर मैं अपनी पार्टी की लाइन पर चला, हिंदू धर्म भाजपा का पेटेंट नहीं : कमलनाथ


मध्यप्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने शुक्रवार को कहा कि वह अयोध्या राम मंदिर मसले पर अपनी पार्टी की लाइन पर ही चले हैं। कमलनाथ ने कहा, 'राम मंदिर पर देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू जी और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का जो रूख था, मैं उसी पर हूं। इसे किसी अन्य परिप्रेक्ष्य में नहीं देखा जाना चाहिए।'


दरअसल, मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री से केरल में त्रिशूर के सांसद टीएन प्रतापन द्वारा कांगेस के 'सॉफ्ट हिन्दुत्व' को अपनाने को लेकर पार्टी आलाकमान को आगाह करने वाली खबरों के बारे में सवाल किया गया।
इस पर, उन्होंने कहा, 'राजीव जी ने (1985 में) राम मंदिर का ताला खुलवाया था। हम बाबरी मस्जिद गिराए जाने के खिलाफ थे। कांग्रेस का रुख साफ था कि हम इस पर अदालत के फैसले का पालन करेंगे।'


कमलनाथ ने कहा, 'मैंने छिंदवाड़ा में सबसे बड़ा हनुमान मंदिर बनवाया था। मैं हिंदू धर्म में आस्था रखता हूं। लेकिन, मैं अन्य सभी धर्मों का अत्यधिक सम्मान करता हूं।' उन्होंने सवाल किया, 'क्या भाजपा ने हिंदू धर्म का पेटेंट कराया है? क्या उन्होंने (भाजपा) धर्म और भगवान राम के लिए एजेंसी ली है?'


कमलनाथ ने अयोध्या में पांच अगस्त को भगवान राम के मंदिर के निर्माण के भूमि पूजन के एक दिन पहले भोपाल में अपने सरकारी निवास पर राम दरबार सजाकर हनुमान चालीसा के पाठ का आयोजन किया था।


Popular posts
राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन एवं कालाजार ( विश्लेरल लिश्मेनिएसिस ) उन्मूलन कार्यक्रम की जिला स्तरीय वर्चुवल समीक्षा।
Image
गंदा पानी पीने को मजबूर कस्बा वासी 10 साल बीते नही हो सकी पानी टंकी से सप्लाई
Image
अमरनाथ यात्रा 2021 के लिए 15 अप्रैल से ऑनलाइन अग्रिम यात्री पंजीकरण प्रक्रिया शुरू
Image
बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर नवरात्र व रमजान से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों को स्वयं की सुरक्षा व बचाव के लिए जोर दिया
Image
जिला पंचायत के चुनाव में भाजपा ने कड़ा रुख अपनाया, 63 प्रत्याशियों की सूची पार्टी की ओर से किया जारी
Image