महिला ने इलाज के नाम पर बलरामपुर निवासी महिला मरीज के तीमारदारों से 50 हजार रुपये वसूले


सिविल अस्पताल में एक महिला ने इलाज के नाम पर बलरामपुर निवासी महिला मरीज के तीमारदारों से 50 हजार रुपये वसूल लिए। यही नहीं, महिला ने जालसाजी के लिए अस्पताल के एक डॉक्टर की फोटो का इस्तेमाल डीपी के लिए किया। शक होने पर तीमारदारों ने शुक्रवार को हंगामा किया तो आरोपी महिला व तीमारदार को निदेशक कक्ष में ले जाया गया।


पुलिस दोनों को कोतवाली ले गई, जहां दोनों पक्षों ने समझौता कर लिया। बलरामपुर जिले की रहने वाली एक 35 वर्षीय महिला मरीज को बीती सात अक्तूबर को इमरजेंसी में भर्ती कराया गया था। महिला सर्जिकल फीमेल वार्ड में डॉक्टर आरके गौतम की देखरेख में इलाज चल रहा है।
तीमारदार राजीव के मुताबिक, गांव की एक महिला ने सिविल अस्पताल में बेहतर इलाज दिलाने का झांसा देकर 50 हजार वसूल लिए थे। राजीव ने डॉक्टर से बात कराने की बात कही तो उसने पूर्व सीएमओ डॉ. आरपी सिंह की फोटो अपने बेटे के व्हाट्सएप नंबर पर लगाकर बेटे से बात करा दी।
इसके बाद तीमारदार ने उसे सिविल में भर्ती कराया। राजीव को शक हुआ तो उसने शुक्रवार दोपहर वार्ड में हंगामा करते हुए गांव की परिचित महिला को निदेशक के सामने पेश किया। निदेशक डॉ. मधु सक्सेना ने बताया कि महिला ने अस्पताल के डॉक्टर की फोटो का गलत इस्तेमाल किया था। जो साइबर क्राइम के तहत आता है। पार्क रोड चौकी प्रभारी सीबी गिरी ने बताया कि दोनों पक्षों ने सुलह कर लिया है। 


 


Popular posts
अखिल भारतीय जायसवाल सर्ववर्गीय महासभा द्वारा दिल्ली में केंद्रीय मंत्री श्रीपाद यशो नायक के दीर्घायु के लिए महामृत्युंजय जाप किया गया
Image
सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को नारदा घोटाला मामले में आरोपी टीएमसी नेताओं को नजरबंद करने के कलकत्ता हाईकोर्ट के फैसले में दखल देने से इनकार कर दिया
Image
मौसी के घर रह रहे बालक की बुधवार को मौसा ने हत्या कर गांव के ही कब्रिस्तान में शव दफनाया
Image
नाबालिग बेटी बोली जब से लॉकडाउन हुआ है तब से पिता रोजाना जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाता है
Image
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद शैक्षणिक कैलेंडर जारी
Image