यूपी बोर्ड ने स्कूलों से पिछले पांच साल में कक्षा 9 और 11 में पंजीकृत व कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षा में आवेदन करने वाले छात्रों का मांगा ब्योरा

 यूपी बोर्ड ने स्कूलों से पिछले पांच साल में कक्षा 9 और 11 में पंजीकृत व कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षा में आवेदन करने वाले छात्रों का ब्योरा मांगा है। अचानक मांगे गए ब्योरे से स्कूल सकते में हैं। ब्योरे को कोषागार से सत्यापित कराना है।


जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि बोर्ड की तरफ से आदेश है, इसलिए सभी स्कूलों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। 2015 से 2020 तक का विवरण देना है। इन छात्रों के कोषागार में जमा शुल्क के कोषपत्रों को सत्यापित कर परीक्षा कार्यालय में जमा कराना है।

यहां से पूरा रिकॉर्ड बोर्ड कार्यालय को भेज दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि माध्यमिक शिक्षा परिषद के वरिष्ठ वित्त एवं लेखाधिकारी कार्यालय से यह लेखा-जोखा मांगा गया है। वहीं दूसरी तरफ अचानक पांच साल का विवरण मांगे जाने से स्कूल परेशान हैं।

पिछले पांच साल के कोषपत्र एकत्रित कर कोषागार से सत्यापित कराना आसान नहीं होगा। स्कूलों को यह समझ नहीं आ रहा है कि अचानक पुराना रिकॉर्ड क्यों मांगा जा रहा है। एमडी शुक्ला इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. एचएन उपाध्याय ने दावा किया कि सरकारी स्कूलों में छात्रों की संख्या को लेकर गड़बड़ियां नहीं होती हैं।

Popular posts
अखिल भारतीय जायसवाल सर्ववर्गीय महासभा द्वारा दिल्ली में केंद्रीय मंत्री श्रीपाद यशो नायक के दीर्घायु के लिए महामृत्युंजय जाप किया गया
Image
सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को नारदा घोटाला मामले में आरोपी टीएमसी नेताओं को नजरबंद करने के कलकत्ता हाईकोर्ट के फैसले में दखल देने से इनकार कर दिया
Image
मौसी के घर रह रहे बालक की बुधवार को मौसा ने हत्या कर गांव के ही कब्रिस्तान में शव दफनाया
Image
नाबालिग बेटी बोली जब से लॉकडाउन हुआ है तब से पिता रोजाना जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाता है
Image
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद शैक्षणिक कैलेंडर जारी
Image