मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फर्जी दस्तखत बना कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भेजे जाने के मामले में सीबीआई दिल्ली की अपराध शाखा ने एफआईआर दर्ज की


 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फर्जी दस्तखत बना कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भेजे जाने के मामले में सीबीआई दिल्ली की अपराध शाखा ने एफआईआर दर्ज कर ली है। बाद में यह केस सीबीआई लखनऊ यूनिट को स्थानांतरित कर दिया गया। 


प्रधानमंत्री कार्यालय के सहायक निदेशक पीके इस्सर के निर्देश पर सीबीआई लखनऊ यूनिट ने ही इस मामले की जांच की थी। जांच में पता चला था कि पत्र जौनपुर जिले के बदलापुर डाकघर से 13 जून 2019 को भेजा गया था। पत्र भेजने वाले ने अपना नाम संदीप सिंह लिखा था।


सीबीआई ने संदीप से पूछताछ की तो पत्र की लिखावट से पता चला कि यह पत्र उसके जानने वाले जौनपुर निवासी शिवाजी यादव ने भेजा था। जांच में यह भी सामने आया कि शिवाजी मोबाइल फोन के जरिये विशाल यादव नाम के एक व्यक्ति से लगातार संपर्क में था। सीबीआई को विशाल ने बताया कि शिवाजी भाजपा से टिकट लेने की कोशिश में था। 


Popular posts
राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन एवं कालाजार ( विश्लेरल लिश्मेनिएसिस ) उन्मूलन कार्यक्रम की जिला स्तरीय वर्चुवल समीक्षा।
Image
गंदा पानी पीने को मजबूर कस्बा वासी 10 साल बीते नही हो सकी पानी टंकी से सप्लाई
Image
अमरनाथ यात्रा 2021 के लिए 15 अप्रैल से ऑनलाइन अग्रिम यात्री पंजीकरण प्रक्रिया शुरू
Image
बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर नवरात्र व रमजान से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों को स्वयं की सुरक्षा व बचाव के लिए जोर दिया
Image
जिला पंचायत के चुनाव में भाजपा ने कड़ा रुख अपनाया, 63 प्रत्याशियों की सूची पार्टी की ओर से किया जारी
Image