हाथरस के चंदपा कांड के चारों आरोपियों के उड़ गए होश

 


हाथरस के चंदपा कांड के चारों आरोपियों के होश उड़ गए हैं। हत्या व दुष्कर्म के आरोप में सीबीआई द्वारा चार्जशीट दायर किए जाने की खबर मिलने के बाद से वे तनाव में हैं। उनके इस पर कारागार प्रशासन ने उनकी निगरानी बढ़ा दी है और चारों को अलग-अलग बैरकों में रखने की तैयारी शुरू कर दी है।


हाथरस कांड में सीबीआई ने 69 दिन तक जांच करने के बाद शुक्रवार को हाथरस न्यायालय में चारों आरोपियों के खिलाफ दुष्कर्म व हत्या के आरोपों में चार्जशीट दायर की है। हालांकि यह खबर शुक्रवार को ही मीडिया में वायरल हो गई। मगर, उन तक यह खबर देर रात पहुंची। खबर मिलने के बाद से वे तनाव में आ गए। उनके चेहरे की हवाइयां उड़ गईं। 


उनका खाने पीने तक में मन नहीं लगा। एक दूसरे से बातचीत तक बंद कर दी गई। किसी अन्य साथी बंदी से भी बातचीत नहीं की। यह खबर जब कारागार अधिकारियों तक पहुंची तो उनकी निगरानी बढ़ा दी गई। उनके तनाव को देखते हुए शनिवार शाम को यह निर्णय लिया गया है कि उन्हें अलग-अलग बैरकों में शिफ्ट किया जाएगा। कारागार अधीक्षक आलोक सिंह ने इतना ही बताया कि संभव हुआ तो रविवार को उनकी बैरकें नए सिरे से आवंटित कर दी जाएंगी। फिलहाल उनकी निगरानी बढ़ा दी गई है।

बिटिया के गांव में पसरा सन्नाटा

सीबीआई द्वारा चार्जशीट दाखिल करने के बाद बिटिया के गांव में शनिवार को सन्नाटा पसरा रहा। बिटिया के घर पर सीआरपीएफ ने सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी। उसके घर के बाहर कंटीले तार लगा दिए। जवानों ने गांव में गश्त भी की। इधर, खुफिया तंत्र भी बेहद सक्रिय रहा। सीबीआई की इस कार्रवाई को लेकर चर्चाएं भी रहीं। 


चंदपा थाना क्षेत्र के गांव की बिटिया के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म और उसकी हत्या के मामले में सीबीआई ने चारों आरोपियों के खिलाफ शुक्रवार को विशेष न्यायाधीश एसटी-एसटी कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल कर दिया है। इसके बाद गांव का माहौल थोड़ा और बदला दिखा। शनिवार को गांव में सन्नाटा पसरा रहा। लोग गांव में दबी जुबां से इस मामले को लेकर चर्चा करते रहे। आरोपियों के यहां भी सन्नाटा पसरा रहा। बिटिया के यहां सुरक्षा के इंतजाम और पुख्ता कर दिए गए। यहां सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सीआरपीएफ सुरक्षा की कमान संभाले हुए है। सीआरपीएफ ने बिटिया के घर के बाहर कंटीले तार भी लगवा दिए। हर आने-जाने वाले पर पैनी निगाह रखी जा रही है। 

आरोपियों के परिजनों के यहां रहा मातम जैसा माहौल

बिटिया के मामले में चार्जशीट दाखिल होने के बाद चारों आरोपियों के घर पर मातम जैसी स्थिति देखने को मिली। सुबह किसी ने एक आरोपी के घर पर जाकर यह बता दिया कि आरोपी को अब फांसी की सजा होगी तो उसकी मां रोने भी लगी। जब मीडियाकर्मी वहां पहुंचे तो उसके परिजन मीडिया कर्मियों पर ही बिफर गए। इधर, एक आरोपी के पिता का कहना था कि सीबीआई से हमें दूध का दूध पानी का पानी करने से उम्मीद थी, लेकिन सीबीआई ने सही कार्रवाई नहीं की, फिर भी हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है।

Popular posts
फोटोग्राफर्स एसोसिएशन उत्तर प्रदेश द्वारा वर्तमान समय मे कोविड 19 के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए कमिश्नर डी के ठाकुर को ज्ञापन दिया गया
Image
वसुंधरा एन्क्लेव की महिलाओं ने किया होली मिलन समारोह
Image
पंचायत चुनाव के लिए प्रशासन की तैयारियों की परीक्षा मंगलवार को नामांकन प्रक्रिया सुबह आठ बजे से शुरू
Image
बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर नवरात्र व रमजान से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों को स्वयं की सुरक्षा व बचाव के लिए जोर दिया
Image
जिला पंचायत के चुनाव में भाजपा ने कड़ा रुख अपनाया, 63 प्रत्याशियों की सूची पार्टी की ओर से किया जारी
Image