लखनऊ के गोमतीनगर निवासी व कक्षा 11 के छात्र माधवम प्रतीप शाही ने लॉकडाउन में जो कुछ सीखा, उससे एक एप बना डाला, जिसे नाम दिया बहन। उनका कहना है कि इससे महिलाओं-लड़कियों को किसी भी खतरे के वक्त मदद मिलने में आसानी होगी। एप प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

इसे उन्होंने अक्तूबर में बनाया है। माधवम के मुताबिक, इस एप में दिया हेल्प बटन दबाने पर दो विकल्प आएंगे, नोटिफाइड पुलिस या सामान्य यूजर्स। छह किमी के दायरे में होने वाले सभी पुलिसकर्मियों तक इससे मदद की गुहार पहुंच जाएगी।

वहीं यदि सामान्य यूजर्स तक संदेश पहुंचाना हो तो यह दो किमी के दायरे में काम करेगा। माधवम मॉडर्न एकेडमी के छात्र हैं। उनका दावा है कि कम इंटरनेट स्पीड और कम बैटरी चार्ज की स्थिति में भी यह एप काम करेगा।


Popular posts
राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन एवं कालाजार ( विश्लेरल लिश्मेनिएसिस ) उन्मूलन कार्यक्रम की जिला स्तरीय वर्चुवल समीक्षा।
Image
गंदा पानी पीने को मजबूर कस्बा वासी 10 साल बीते नही हो सकी पानी टंकी से सप्लाई
Image
अमरनाथ यात्रा 2021 के लिए 15 अप्रैल से ऑनलाइन अग्रिम यात्री पंजीकरण प्रक्रिया शुरू
Image
बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर नवरात्र व रमजान से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों को स्वयं की सुरक्षा व बचाव के लिए जोर दिया
Image
जिला पंचायत के चुनाव में भाजपा ने कड़ा रुख अपनाया, 63 प्रत्याशियों की सूची पार्टी की ओर से किया जारी
Image