लखनऊ के गोमतीनगर निवासी व कक्षा 11 के छात्र माधवम प्रतीप शाही ने लॉकडाउन में जो कुछ सीखा, उससे एक एप बना डाला, जिसे नाम दिया बहन। उनका कहना है कि इससे महिलाओं-लड़कियों को किसी भी खतरे के वक्त मदद मिलने में आसानी होगी। एप प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

इसे उन्होंने अक्तूबर में बनाया है। माधवम के मुताबिक, इस एप में दिया हेल्प बटन दबाने पर दो विकल्प आएंगे, नोटिफाइड पुलिस या सामान्य यूजर्स। छह किमी के दायरे में होने वाले सभी पुलिसकर्मियों तक इससे मदद की गुहार पहुंच जाएगी।

वहीं यदि सामान्य यूजर्स तक संदेश पहुंचाना हो तो यह दो किमी के दायरे में काम करेगा। माधवम मॉडर्न एकेडमी के छात्र हैं। उनका दावा है कि कम इंटरनेट स्पीड और कम बैटरी चार्ज की स्थिति में भी यह एप काम करेगा।


Popular posts
वीएलसीसी (VLCC) ने उत्तर प्रदेश में २० वर्ष पुरे किए, २० नए वेलनेस सेंटर और १० कौशल विकास संस्थान ( स्किल डेवेलपमेंट इंस्टीटयूट्स ) खोलने के लिए तैयार है।
Image
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को देश के अलग-अलग हाईकोर्ट के न्यायाधीशों के स्थानांतरण को दी मंजूरी
Image
सपा लोहिया वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामकुमार निर्मल म्योहर पहुंचे
Image
दिल्ली-एनसीआर समेत पूरा उत्तर भारत इन दिनों शीतलहर की चपेट में
Image
राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन एवं कालाजार ( विश्लेरल लिश्मेनिएसिस ) उन्मूलन कार्यक्रम की जिला स्तरीय वर्चुवल समीक्षा।
Image