ग्राम रोजगार सेवकों को 3 वर्ष का बकाया मानदेय मिलने की उम्मीद जगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश ग्राम रोजगार सेवक संघ के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश कुमार सिंह ने बकाया मानदेय 36000 ग्राम रोजगार सेवकों को देने हेतु सरकार द्वारा 235 करोड़ स्वीकृत होने की उम्मीद जगी है,  संघ अध्यक्ष द्वारा माननीय मुख्यमंत्री जी को कहा धन्यवाद।
संघ अध्यक्ष ने कहा कि संघ की बहुप्रतीक्षित मांग पूरी हुई,जहाँ इस 19 कोविड महामारी के समय ग्राम रोजगार सेवक अपने अपने गाँव मे मजदूरों को मनरेगा के अंतर्गत रोजगार देने का काम कर रहे है,गरीबो को रासन बंटवाने में भी सहयोग कर रहे है,उनको सरकार द्वारा दी जा रही आर्थिक सहायता भी मुहैया कराने में मदत कर रहे है।
संघ अध्यक्ष ने आगे बताया कि पिछले 3 वर्षों से ग्राम रोजगार सेवक का 20 से 22 माह का मानदेय बकाया था,और अब संगठन को उम्मीद जगी है कि अब मानदेय मिल जाएगा, पिछले काफी समय से इस मांग को लेकर संघर्षरत थे,इस समय प्रदेश के मुखिया माननीय मुख्यमंत्री जी ने मानदेय देने का फैसला किया है जिससे प्रदेश के 36000 रोजगार सेवकों के चेहरे पर मुस्कान लाने का काम किया गया है।


संघ अध्यक्ष ने कहा कि माननीय मंत्री ग्राम्य विकाश राजेन्द्र प्रताप सिंह,प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास,आयुक्त ग्राम्य विकास,अपर आयुक्त को संगठन की तरफ से धन्यवाद दिया है।


Popular posts
वीएलसीसी (VLCC) ने उत्तर प्रदेश में २० वर्ष पुरे किए, २० नए वेलनेस सेंटर और १० कौशल विकास संस्थान ( स्किल डेवेलपमेंट इंस्टीटयूट्स ) खोलने के लिए तैयार है।
Image
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को देश के अलग-अलग हाईकोर्ट के न्यायाधीशों के स्थानांतरण को दी मंजूरी
Image
सपा लोहिया वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामकुमार निर्मल म्योहर पहुंचे
Image
दिल्ली-एनसीआर समेत पूरा उत्तर भारत इन दिनों शीतलहर की चपेट में
Image
राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन एवं कालाजार ( विश्लेरल लिश्मेनिएसिस ) उन्मूलन कार्यक्रम की जिला स्तरीय वर्चुवल समीक्षा।
Image