जनसमस्याओं के निस्तारण के आधार पर जिलों की रैंकिंग में लखनऊ इस बार 45वें स्थान


प्रदेश सरकार ने जनसमस्याओं के निस्तारण के आधार पर जिलों की रैंकिंग जारी कर दी है। सितंबर की रैंकिंग में कन्नौज समेत 5 जिले पहले स्थान पर हैं। अवध के जिलों में सिर्फ रायबरेली ही टॉप 10 में है। लखनऊ इस बार 45वें स्थान पर रहा है। गौरतलब है कि सरकार लोगों की शिकायतों व समस्याओं के समय से गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के आधार पर हर महीने जिलों की रैंकिंग जारी करती है। शिकायतों पर कार्यवाही की समयबद्धता व गुणवत्ता का मुख्यमंत्री कार्यालय के स्तर पर अलग से मूल्यांकन होता है।


टॉप-10 जिले
पहला स्थान : कन्नौज, कासगंज, फर्रुखाबाद, मैनपुरी व हापुड़। इसी तरह उन्नाव को 6ठा स्थान, मऊ को 7वां, रायबरेली को 8वां, शामली को 9वां और संतकबीरनगर को 10वां स्थान मिला है।
अवध के जिलों की रैंक
गोंडा को 15वां स्थान, श्रावस्ती को 18वां, अंबेडकरनगर को 21वां, सुल्तानपुर को 24वां, अमेठी को 25वां, अयोध्या को 28वां, बहराइच को 29वां, सीतापुर को 34वां, लखनऊ को 45वां, बलरामपुर को 61वां और बाराबंकी को 68वां स्थान मिला है।


फिसड्डी रैंकिंग वाले 10 जिले
बिजनौर को 75वां, बलिया को 74वां, कानपुर देहात को 73वां, चंदौली को 72वां, गाजीपुर को 71वां, सहारनपुर को 70वां, गोरखपुर को 69वां, बाराबंकी को 68वां, गौतमबुद्धनगर को 67वां और फतेहपुर को 66वां स्थान मिला है।


Popular posts
अखिल भारतीय जायसवाल सर्ववर्गीय महासभा द्वारा दिल्ली में केंद्रीय मंत्री श्रीपाद यशो नायक के दीर्घायु के लिए महामृत्युंजय जाप किया गया
Image
सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को नारदा घोटाला मामले में आरोपी टीएमसी नेताओं को नजरबंद करने के कलकत्ता हाईकोर्ट के फैसले में दखल देने से इनकार कर दिया
Image
मौसी के घर रह रहे बालक की बुधवार को मौसा ने हत्या कर गांव के ही कब्रिस्तान में शव दफनाया
Image
नाबालिग बेटी बोली जब से लॉकडाउन हुआ है तब से पिता रोजाना जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाता है
Image
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद शैक्षणिक कैलेंडर जारी
Image